बिहार: नाबालिग को बाजार से उठाकर अगवा करने वाला शाहरुख गिरफ्तार, 10 दिन बाद मिली गोल्डी

21 जुलाई, 2021 By: संजय राजपूत
11 जुलाई को दिन दहाड़े 13 वर्षीय गोल्डी का अपहरण उसी के गाँव से कर लिया गया

बिहार के गोपालगंज से लव जिहाद का मामला सामने आया है। बाजार गई एक 13 वर्षीय नाबालिग बच्ची को शाहरुख नामक युवक अपने कुछ साथियों की मदद से बाइक पर बैठा कर फरार हो गया। एक सप्ताह से अधिक समय बीत जाने के बाद भी गोपालपुर थाने की पुलिस मूक दर्शक बनी रही।

गाँव बड़हरा निवासी बच्ची की माँ ने गोपालपुर थाने में शाहरुख के खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई है। जानकारी के अनुसार लड़की को औरंगाबाद पुलिस ने आज बरामद कर लिया है और आरोपित शाहरुख को पकड़ लिया गया है।

मामला गोपालगंज के गोपालपुर थाने के अंतर्गत आने वाले गाँव बड़हरा का है। यहाँ रहने वाली सुमन देवी ने ‘डू-पॉलिटिक्स’ से बात करते हुए बताया कि 11 जुलाई को उनकी 13 वर्षीय बेटी गोल्डी अपने छोटे भाई हिमांशु (10 वर्ष) के साथ कुछ सामान खरीदने बाज़ार गई थी, जहाँ पहले से ही दो बाइकों पर आरोपित शाहरुख अपने दो-तीन साथियों के साथ खड़ा था।


10 वर्षीय छोटे भाई के साथ देख शाहरुख ने मौके का फायदा उठाते हुए ज़बरन गोल्डी को बाइक पर बिठा लिया और फरार हो गया। लड़की के भाई हिमांशु ने रोते हुए घर जाकर माँ को सारी घटना बताई। लड़की के पिता दुबई में रह कर नौकरी करते हैं। लड़की सातवीं क्लास की छात्रा है।

घटना की सूचना मिलते ही लड़की की माँ शाहरुख के घर गई तो उन्होंने कहा तुम अपनी बेटी को ढूँढों, हम अपने बेटे को ढूँढेंगे। इसके बाद शाहरुख के परिवार वाले अपने घर मे ताला डालकर फरार हो गए।

इस मामले में लड़की की माँ की तहरीर पर 12 जुलाई को गोपालपुर थाने में एफआईआर सँख्या 1431/21 दर्ज की गई थी लेकिन कई दिनों तक लड़की का कुछ पता नहीं चला, जिसके बाद दुबई में रहने वाले लड़की के पिता ने बिहार के हिन्दू संगठनों से मदद माँगी।

हिन्दू संगठन के दबाव के बाद लड़की महाराष्ट्र में बरामद

मामले की जानकारी देते हुए श्री राम सेना के अध्यक्ष हिन्दू यशराज सिंह ने बताया कि लड़की के पिता ने अपने कुछ रिश्तेदारों की मदद से उनसे संपर्क किया था। लड़की के पिता का आरोप था कि स्थानीय थाना और प्रशासन आरोपितों से मिला हुआ है इसलिए उनकी बेटी को ढूँढने में दिलचस्पी नहीं ले रहा।

जिसके बाद यशराज सिंह ने जिले के एसपी से मामले को लेकर बात की थी। उन्होंने एसपी से जल्द से जल्द लड़की को ढूँढने का निवेदन किया वरना आंदोलन करने की बात कही। एसपी ने उन्हें एक हफ्ते के भीतर लड़की को बरामद कर लेने के आश्वासन दिया था।

यशराज सिंह ने बताया कि लड़की को अगवा करने के बाद दो दिन तक स्थानीय इलाके में ही रखा गया था, जिसमें कुछ स्थानीय लोगों ने भी आरोपित शाहरुख की मदद की थी। दो दिन बाद लड़की को गायब कर दिया गया।

उन्होंने बताया कि दुबई में रहने वाले लड़की के कुछ रिश्तेदारों ने आज उन्हें सूचना दी है कि लड़की को महाराष्ट्र के औरंगाबाद से स्थानीय पुलिस द्वारा बरामद कर लिया गया है।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार