गैंगस्टर मुख्तार अंसारी को पंजाब से UP लाएगी पुलिस की 150 सदस्यीय टीम

05 अप्रैल, 2021
गैंगस्टर मुख्तार अंसारी (फाइल फोटो/साभार: अमर उजाला)

एक दर्जन से अधिक मामलों में मुकदमों का सामना कर रहे गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी को वापस लाने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस की 150 सदस्यीय टीम सोमवार (अप्रैल 05, 2021) को पंजाब रवाना हो चुकी है। अंसारी के परिवार का कहना है कि वे उसकी सुरक्षा के लिए अदालत का रुख करेंगे।

मुख़्तार के परिवार ने संदेह प्रकट करते हुए कहा कि जेल में उसके खिलाफ ‘साजिश’ रची जा सकती है। पंजाब के गृह विभाग ने 26 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी के अधिकारियों को बसपा विधायक मुख़्तार अंसारी को हिरासत में लेने के लिए कहा था।

पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि पंजाब से अंसारी को वापस लाने के लिए सोमवार सुबह बाँदा से अत्याधुनिक हथियारों से लैस एक कंपनी सहित 150 सदस्यीय टीम भेजी गई है। उत्तर प्रदेश के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि माफिया को निकालने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि पंजाब सरकार ने अंसारी का बचाव करने का हर संभव प्रयास किया, लेकिन योगी आदित्यनाथ सरकार की प्रतिबद्धता के आगे उसे झुकना पड़ा।

उन्होंने दावा किया कि अपराधियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी, चाहे वे किसी भी धर्म या जाति के हों। यूपी पुलिस ने कहा कि अंसारी, जो जबरन वसूली के मामले में जनवरी 2019 से रूपनगर जेल में बंद हैं, यूपी और अन्य जगहों पर 52 मामलों का सामना कर रहा है, और उनमें से 15 ट्रायल में हैं।

अंसारी के गिरोह पर कार्रवाई करते हुए, पुलिस ने 96 अपराधियों को गिरफ्तार किया है और अब तक विधायक और उनके सहयोगियों से जुड़ी 192 करोड़ रूपए की संपत्ति जब्त, मुक्त या ध्वस्त कर दी गई है। बाँदा जिला जेल के कार्यवाहक पुलिस अधीक्षक प्रमोद तिवारी ने कहा कि अंसारी के लिए बैरक नंबर -15 में सारी व्यवस्था की गई है और कोई अन्य कैदी इस क्षेत्र में नहीं पहुँच सकता है।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:


You might also enjoy

आत्मघात में निवेश