लखनऊ: 19 साल के इब्राहिम इस्लाम त्याग कर बने आदित्य मिश्रा

17 दिसम्बर, 2021 By: DoPolitics स्टाफ़
19 वर्षीय इब्राहिम इस्लाम छोड़कर बने हिंदू

बहुचर्चित वकील वसीम रिजवी और केरल के फिल्म निर्माता अली अकबर के बाद लखनऊ से हिंदू धर्म में घरवापसी का एक मामला सामने आया है। 19 वर्ष के एक इब्राहिम नामक युवक ने इस्लाम को छोड़कर हिंदू धर्म में घरवापसी की है। अब यह व्यक्ति आदित्य मिश्रा के नाम से जाना जाएगा।

कुछ समय पूर्व डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती की अगुवाई में उत्तर प्रदेश के बहुचर्चित वकील वसीम रिजवी ने इस्लाम त्याग कर हिंदू धर्म अपनाया था। वे हिंदुओं के त्यागी समुदाय से जुड़े थे और अपना नाम भी बदलकर जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी कर लिया था।

इसके कुछ दिनों बाद ही केरल के एक बहुचर्चित फिल्म निर्माता और निर्देशक अली अकबर ने भी दिवंगत सीडीएस बिपिन रावत की हेलीकॉप्टर क्रैश में मृत्यु के बाद इस्लाम छोड़कर हिंदू धर्म अपना लिया था। अब ऐसा ही एक समाचार लखनऊ से सामने आया है।

आदित्य मिश्रा (इब्राहिम) नामक युवक का जन्म एक हिंदू परिवार में हुआ था और उसकी माँ का नाम अलका चतुर्वेदी है। आदित्य की मॉं अलका ने वर्ष 2000 में विनोद मिश्रा नामक युवक से शादी की, जिससे उन्हें 2 बच्चे हुए। एक बेटी और एक बेटा, जिसका नाम कि आदित्य मिश्रा है।

आदित्य की माँ अलका और विनोद का वर्ष 2012 में तलाक हो गया, जिसके बाद वर्ष 2014 में अलका ने लियाकत खान नामक व्यक्ति से शादी करके इस्लाम पंथ स्वीकार कर लिया था।

इस समय आदित्य मिश्रा की आयु लगभग 12-13 वर्ष थी। रिपोर्ट की मानें तो ये सारी बातें आदित्य ने अपने एफिडेविट में बताई हैं और उसने बुधवार (15 दिसंबर, 2021) को आर्य समाज की रीतियों का पालन करते हुए लखनऊ के नरही स्थित आर्य समाज मंदिर में हिंदू धर्म में घरवापसी की।

पूरे मामले को लेकर आर्य समाज के सिविल लाइंस क्षेत्र के अजय श्रीवास्तव ने जानकारी देते हुए बताया कि आदित्य मिश्रा उर्फ़ इब्राहिम ‘वापस अपने घर’ आ गए हैं।

घरवापसी का तीसरा बड़ा उदाहरण 

हाल ही के दिनों में यह हिंदू धर्म में घर वापसी का तीसरा बड़ा उदाहरण है। 6 दिसंबर, 2021 को शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने इस्लाम पंथ त्याग कर हिंदू धर्म को अपना लिया था और उन्होंने अपना नाम भी जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी करके घर वापसी की थी। इस मामले में वसीम रिजवी ने डू-पॉलिटिक्स की टीम से खास बातचीत भी की थी।


कुछ समय पहले हुए एक हेलीकॉप्टर क्रैश में सीडीएस बिपिन रावत समेत 13 लोगों के वीरगति को प्राप्त होने के बाद सोशल मीडिया पर कई मुस्लिम नाम वाले अकाउंट से बेहद शर्मनाक ट्वीट और कमेंट किए गए थे।

इसके बाद केरल के एक फिल्म निर्माता और निर्देशक अली अकबर ने भी इस्लाम पंथ त्याग दिया था और उन्होंने कहा था कि वे मुस्लिम समुदाय के इस कृत्य से बेहद दुखी हैं और अब से उनका धर्म भारतीयता और हिंदू होगा।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:


You might also enjoy

आत्मघात में निवेश