अखिलेश ने चुनाव आयोग से की IT के छापे रोकने की माँग, कहा-चुनाव तक न मारें रेड, मुझे इत्र लगाने जाना है

31 दिसम्बर, 2021 By: DoPolitics स्टाफ़
अखिलेश यादव ने चुनाव आयोग से छापे रुकवाने की अपील की है

समाजवादी पार्टी के एमएलसी पुष्पराज जैन के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी पर चुप्पी तोड़ते हुए अखिलेश यादव ने अपना बयान जारी किया है। अखिलेश यादव ने आरोप लगाया है कि बीजेपी ने केंद्रीय जाँच एजेंसियों के साथ गठबंधन कर लिया है।

बता दें कि जीएसटी इंटेलिजेंस महानिदेशालय द्वारा प्रदान की गई टैक्स चोरी के एक इनपुट के आधार पर कानपुर, कन्नौज, मुंबई, सूरत और डिंडीगुल सहित लगभग 50 स्थानों पर तलाशी चल रही है। कानपुर के इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर पर भी पड़े आयकर छापे में करोड़ों की नगदी, सोना और चांदी मिली थी।

इसी क्रम में वर्ष 2016 में उत्तर प्रदेश विधान परिषद के लिए चुने गए ‘समाजवादी परफ्यूम’ के निर्माता पुष्पराज जैन के यहां भी छापेमारी की गई है। ‘समाजवादी इत्र’ को औपचारिक रूप से हाल ही में 9 नवंबर को सपा प्रमुख द्वारा लॉन्च किया गया था।

छापों से बौखलाए अखिलेश यादव ने बृहस्पतिवार (31 दिसंबर, 2021) को कन्नौज में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा,

“पिछले महीने से हमें यह महसूस हो रहा था कि समाजवादी पार्टी के नेताओं पर छापे मारे जाएँगे। हम समाचार पत्रों में लेख भी पढ़े जिसमें बताया गया था कि समाजवादी नेताओं के ठिकानों में छापे मारे जाएँगे। पिछले दो सप्ताह से सपा से जुड़े लोगों पर छापेमारी की जा रही है।”

अखिलेश ने आरोप लगाते हुए कहा, “लखनऊ या यूपी में जब भी भाजपा का कोई कार्यक्रम होता है तो ऐसा लगता है जैसे वे एजेंसियों को अपने साथ ले आते हैं। उन्हें निर्देश देकर यहाँ लाया जाता है और छापेमारी की जाती है। यह बार-बार हो रहा है।”

अखिलेश यादव ने कहा, “वो समाजवादी पार्टी को तो बदनाम करना ही चाहते हैं, लेकिन कन्नौज, जिसके इत्र की पहचान पूरी दुनिया में है, उसे भी बदनाम करने में लगे हैं। नफ़रत की दुर्गंध फ़ैलाने वाले सौहार्द की सुगंध कैसे पसंद करेंगे।”

लगातार पीयूष जैन के समाजवादी पार्टी से संबंध होने और भ्रष्टाचार को लेकर सपा पर निशाना साध रही भाजपा पर पलटवार करते हुए सपा मुखिया ने कहा कि पहले जहाँ छापा मारा था, उसका समाजवादी पार्टी से कोई संबंध नहीं है, उससे बीजेपी के लोगों का संबंध है।

उन्होंने आगे कहा, “वो ढूँढने गए थे पुष्पराज जैन को और ढूँढ निकाला बीजेपी के सहयोगी पीयूष जैन को। अब वो खीझ मिटाने के लिए सपा के पुष्पराज के यहां छापा मार रहे है क्योंकि इन्हें दिखाना है कि हम निष्पक्ष हैं।”

उन्होंने बीजेपी से पूछा कि इतने बड़े पैमाने पर पैसा कैसे निकला जबकि बीजेपी ने कहा था कि नोटबंदी के बाद काला धन जमा नहीं होगा।

चुनाव आयोग से छापा रोकने की अपील

प्रेस कॉन्फ्रेंस में सपा मुखिया अखिलेश यादव ने चुनाव आयोग से छापे रुकवाने की भी अपील की। पुष्पराज जैन पर हुई कार्रवाई के संबंध में कन्नौज में अखिलेश यादव ने कहा कि अभी क्योंकि यूपी में चुनाव हैं, इसलिए अभी छापे और बढ़ते जाएँगे इसलिए मैं चुनाव आयोग से अपील करूँगा कि ये छापे चुनाव के बाद मारे जाएँ।

अखिलेश ने कहा, “मैं पुष्पराज जी के यहाँ जाकर इत्र लाना चाहता था लेकिन अब छापे चले रहे हैं तो मैं नहीं जा पाऊँगा। इत्र यहाँ आज से नहीं कई वर्षों से बन रहा है। इससे कारोबारी व्यापारी, किसान सब जुड़े हैं। जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आएगा, पूरा कंट्रोल दिल्ली चला जाएगा, बाबा मु्खयमंत्री के पास कुछ नहीं रह जाएगा।”



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं: