बांग्लादेश: 'कट्टरपंथियों ने जलाए हिन्दुओं के 2 गाँव, बाँसुरी बजा रही हैं हसीना'

18 अक्टूबर, 2021
बांग्लादेश में 20 हिंदू घरों को इस्लामी भीड़ ने लगाई आग

भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिंदुओं, उनके धर्म स्थलों और अब घरों पर भी हमले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। लगातार चल रही हिंसा में रविवार (17 अक्टूबर, 2021) की रात को एक इस्लामी भीड़ ने लगभग 60 हिंदुओं के घरों को आग के हवाले कर दिया।

कुछ दिनों पहले दुर्गा पूजा के पांडालों पर हुए हमले और मूर्तियों को क्षतिग्रस्त करने के बाद बांग्लादेश के नोआखाली क्षेत्र में इस्कॉन मंदिर को निशाना बनाया गया था। इस मंदिर पर कुछ कट्टरपंथियों ने हमला कर दिया और तोड़फोड़ की। हमलावरों ने 3 भक्तों की जान भी ले ली। 

हिन्दुओं के 60 घरों को लगाई आग

इस घटना के बाद रविवार, 17 अक्टूबर को राँगपुर क्षेत्र में कट्टरपंथी भीड़ ने हिंदू क्षेत्र में हमला कर दिया। पीरगंज उपज़िले के करीमगंज में हुई इस निर्मम घटना में हिंदुओं के 60 घरों को आग लगा दी गई।

पूरे मामले पर एएसपी ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा:

“एक युवा हिंदू के द्वारा फेसबुक पर एक पोस्ट लिखने के कारण क्षेत्र में विवाद फैल गया। पोस्ट वायरल हो जाने के बाद पुलिस ने उसके घर को सुरक्षा दे दी, परंतु हमलावरों ने गुस्से में आसपास के 20 घरों को जला डाला।”

पुलिस ने मीडिया से बातचीत में कहा कि उन्होंने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए हर रबड़ की गोलियों का प्रयोग किया जिसके कारण अब स्थिति नियंत्रण में है। पुलिस की मानें तो पूरे विवाद में किसी को कोई गंभीर चोट नहीं आई है।

पूरे मामले को लेकर पुलिस ने अब तक 20 लोगों को हिरासत में लिया है और राँगपुर के डेप्युटी कमिश्नर आसिब एहसान ने बताया कि पीड़ित परिवारों को पुनः बसाने के लिए कार्य किया जा रहा है।

पूरे विवाद को लेकर बांग्लादेश की लेखिका तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधते हुए कहा कि रात में पीरगंज बांग्लादेश में दो हिंदू गाँवों को जिहादियों द्वारा आग लगा दी गई और हसीना बाँसुरी बजा रही है।


इस्कॉन संस्था ने UN से लगाई गुहार  

बता दें कि हाल ही में बांग्लादेश के इस्कॉन मंदिर पर हुए हमले को लेकर भी इस्कॉन संस्था काफी गंभीर है। उन्होंने मामले को विश्व स्तर पर उठाने की बात कही है। उन्होंने कहा:

“हम संयुक्त राष्ट्र (UN) से अपील करते हैं कि बांग्लादेश की हिंदुओं और अन्य अल्पसंख्यकों के विरुद्ध हिंसा के इस चक्र कि तुरंत निंदा करें और एक प्रतिनिधिमंडल बांग्लादेश भेजें।”

इस्कॉन संस्था ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी मामले का संज्ञान लेने के लिए कहा है। संस्था ने बताया कि उनके प्रधान मंत्री आवास पर फोन करने पर प्रधानमंत्री के एक अटेंडेंट में फोन उठाया और कहा कि वे इस विषय में प्रधानमंत्री को जानकारी अवश्य देंगे।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार