बांग्लादेश: इकबाल हुसैन ने रखी थी मंदिर पांडाल में कुरान, CCTV से हुआ खुलासा

21 अक्टूबर, 2021 By: डू पॉलिटिक्स स्टाफ़
इकबाल हुसैन ने रखी थी हनुमान की प्रतिमा के साथ कुरान

बांग्लादेश के दुर्गा पूजा पांडाल में हुए हमले के पीछे के असली आरोपित की पहचान की जा चुकी है। बांग्लादेश के पुलिस विभाग ने इस व्यक्ति के पहचान इकबाल हुसैन के रूप में की है और उन्होंने बताया है कि इसी ने जानबूझकर कुरान दुर्गा पूजा पांडाल में रखी थी ताकि विवाद पैदा हो सके।

13 अक्टूबर, 2021 को बांग्लादेश के चितगाँव डिवीजन में आने वाले चाँदपुर ज़िले और कोमिला ज़िले में दुर्गा पूजा के पांडाल पर एक उग्र इस्लामी भीड़ द्वारा हमला किया गया था। इसका कारण यह बताया जा रहा था कि पांडाल में हनुमान की मूर्ति के पैरों के नीचे कुरान रखकर कथित तौर पर उसकी बेअदबी की गई।

इसी कारण इस कट्टरपंथी भीड़ ने दुर्गा पूजा पांडाल पर आक्रमण किया और भीषण उत्पात मचाया। लोगों ने पाडांल में तोड़फोड़ के साथ कई दुर्गा की प्रतिमाओं को भी क्षतिग्रस्त किया था।

मामले पर बांग्लादेश प्रशासन द्वारा जाँच प्रारंभ की गई और बुधवार (20 अक्टूबर, 2021) को एक आरोपित की पहचान कर ली गई है। इसकी पहचान 35 वर्ष के इकबाल हुसैन के रूप में हुई है। आरोपित के पिता का नाम नूर अहमद आलम है और यह सूजानगर क्षेत्र का रहने वाला है। पुलिस ने कहा कि इसी व्यक्ति ने 13 अक्टूबर को कुरान को ननुआ दीघिर पार पूजा मंडप में रखा था।

सीसीटीवी फुटेज से हुआ खुलासा 

बांग्लादेश पुलिस के एसपी फारूक अहमद ने जानकारी देते हुए बताया कि उन्होंने सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से इकबाल की पहचान की है। सीसीटीवी फुटेज में देखा जा सकता है कि इकबाल ने मस्जिद से कुरान ली और वह पूजा के स्थान की तरफ बढ़ा। अगली फुटेज में वह हनुमान की प्रतिमा के पास से निकलता हुआ देखा गया।


पुलिस अब तक कोमिला में हुए विवाद को लेकर 41 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है, जिनमें से चार लोग इकबाल के ही जान पहचान के बताए जा रहे हैं। इकबाल की माँ अमीना बेगम ने इस मामले में बताया कि उनका बेटा नशे का आदी है और वह अपने परिवार को भी अपने नशे की लत के कारण परेशान करता है।

हालाँकि इकबाल के परिवार ने यह भी कहा कि अगर उसने यह कृत्य किया है और वह दोषी पाया जाता है तो उसे सज़ा दी जाए।

इस पूरे मामले पर बांग्लादेशी गृह मंत्री असद्दूज़मन खान ने कहा:

“मुझे आशा है कि कोमिला विवाद का मुख्य आरोपित जल्द ही गिरफ्तार होगा। वह निरंतर गिरफ्तारी से बचने के लिए स्थान बदल रहा है। उसकी गिरफ्तारी के साथ ही हम कोमिला विवाद को लेकर पूरी व्याख्या कर सकेंगे।”



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार