अलीगढ़ के बाद अब बरेली के घरों पर नजर आया संदेश- मकान बिकाऊ है, पुलिस ने बताया कारण

10 जून, 2021 By: डू पॉलिटिक्स स्टाफ़
अलीगढ़ के बाद अब बरेली के स्थानीय हिन्दुओं ने घरों के बाहर यह संदेश लगाया है (चित्र साभार- अमर उजाला)

अलीगढ़ में चल रहे लंबे सांप्रदायिक तनाव के बाद अब बरेली में समान घटना सामने आई है। यहाँ भी घर के बाहर ‘यह मकान बिकाऊ है’ लिखा हुआ पाया गया। आरोप है की विशेष समुदाय के लोगों द्वारा क्षेत्र में अराजकता का माहौल बनाया जा रहा है, जिस कारण स्थानीय हिन्दू कथित तौर पर घर से पलायन करने को मजबूर हैं।

पिछले दिनों अलीगढ़ के नूरपुर गाँव में समुदाय विशेष द्वारा उपद्रव के कारण गाँव के डरे हुए दलित हिंदू समुदाय ने अपने घरों के बाहर ‘यह मकान बिकाऊ है’ लिख दिया था। कुछ समय उपरांत ही बरेली के इज्जत नगर थाना के अंतर्गत आने वाले नगरिया कला क्षेत्र में एक घर पर लोगों द्वारा समान संदेश लिखा गया।

घर में रहने वाली महिला ने यह आरोप लगाया कि युवक अनीस द्वारा घर में घुसकर उसके साथ छेड़छाड़ की गई। पीड़िता ने यह भी कहा कि पुलिस द्वारा मामले को लेकर कुछ न किए जाने के कारण युवक की हिम्मत और बढ़ गई है। उन्हें लगातार धमकियाँ दी जा रही हैं, जिसके कारण वे डरकर मजबूरी में पलायन करने पर विचार कर रहे हैं।


पुलिस ने बताई आपसी रंजिश

इस मामले पर पुलिस द्वारा अलग बात बताई जा रही है। एसपी रोहित सिंह सजवान कहते हैं कि यह दो पक्षों की आपसी रंजिश का मामला है। दोनों पक्षों में शादी के दौरान खेत में की गई गंदगी को लेकर विवाद हुआ था, जिसे अब अलग मज़हबी रंग देकर प्रस्तुत किया जा रहा है।

इस मामले पर बरेली पुलिस ने एक वीडियो के द्वारा जानकारी देते हुए स्पष्ट किया है कि यह दो पक्षों के बीच का मामला है, जिसे साम्प्रदायिक रंग देने की कोशिश की जा रही है।

एसएसपी बरेली ने इस मामले पर जानकारी देते हुए कहा, “थाना इज्जतनगर क्षेत्र में वादी पक्ष के द्वारा प्रतिवादी पक्ष से खेत शादी समारोह संपन्न कराने के लिए लिया गया था। समारोह के उपरांत खेत में गंदगी छूट गई थी। जिसको लेकर प्रतिवादी पक्ष के द्वारा आपत्ति दर्ज की गई थी, दोनों ही पक्षों में झगड़ा हुआ था।”

पुलिस ने कहा कि गाँव में प्रधानी चुनाव एवं आपसी गुटबाजी के कारण इस तरह की घटना सामने आई है। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई करने का भी आश्वासन दिया है।

अलीगढ़ में भी हिन्दू परिवारों के घरों पर नजर आए थे ऐसे ही संदेश

बता दें कि इससे पहले पश्चिमी उत्तर प्रदेश में ही अलीगढ़ के नूरपुर नामक गाँव में दलित हिन्दू समुदाय के कई घरों पर ‘यह घर बिकाऊ है’ लिखा जाने का मामला सामने आया था। यह मामला हिंदुओं की एक बारात पर समुदाय विशेष द्वारा किए गए हमले के बाद सामने आया।

बारात दलित हिन्दू समुदाय की थी एवं उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि कुछ लोगों ने मस्जिद से निकलकर हमला और पत्थरबाजी की एवं डीजे वाली गाड़ी का शीशा तक तोड़ दिया, जिसके बाद बारात को वापस लौटना पड़ा।

मामले के तूल पकड़ने के उपरान्त सोमवार (31 मई, 2021) को अलीगढ़ क्षेत्र के भाजपा सांसद सतीश गौतम नूरपुर गाँव पहुँचे थे। साथ में हाथरस सांसद राजवीर सिंह दिलेर एवं खैर विधायक अनूप प्रधान भी मौजूद थे। 



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार