प्रेशर कूकर में ड्रग्स बनाने वाला 'आत्मनिर्भर' नाइजीरियन गिरफ्तार, इंटरनेट से सीखा 'बेस्ट क्रिस्टल' बनाना

12 जनवरी, 2022 By: DoPolitics स्टाफ़
बेंगलुरु के गाँव से घर में ड्रग्स बनाता नाइजीरियन नागरिक गिरफ्तार

सेंट्रल क्राइम ब्रांच पुलिस ने बेंगलुरु के ताराबनाहली गाँव में एक नाइजीरिया मूल के व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।  इस व्यक्ति के पास से लगभग 50 लाख रुपए का ऐसा सामान मिला है, जिसका प्रयोग यह व्यक्ति घर में ही ड्रग्स बनाने और बेचने के लिए कर रहा था।

भारत में विदेशियों द्वारा ड्रग्स की तस्करी अब कोई नया अपराध नहीं रह गया है। विदेशों मुख्यतः अफ्रीकी देशों से आने वाले कई लोग मुंबई, दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों में ड्रग्स की तस्करी करते पकड़े जा चुके हैं परंतु हाल ही में कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु से एक नया ही मामला सामने आया।

पुलिस ने सोमवार (11 जनवरी, 2022) को सूचना मिलने के बाद हेसरघट्टा के पास के ताराबनाहली गाँव में एक घर में छापा मारा तो उन्हें वहाँ एक नाइजीरियन व्यक्ति और उसके पास 50 लाख रुपयों का सामान मिला। इस व्यक्ति की पहचान रिचर्ड मबूदू स्रिल (Richard Mbudu Cyrill) के रूप में हुई है।

बता दें कि रिचर्ड वर्ष 2019 में व्यापार के नाम पर वीजा लेकर अपने बड़े भाई के साथ दिल्ली आया था। वह छः माह पूर्व रामामूर्ति नगर आया और लगभग दो महीने पहले ताराबनाहली गाँव में आकर रहने लगा। पुलिस ने बताया कि यह व्यक्ति घर में प्रेशर कुकर के माध्यम से एमडीएमए क्रिस्टल्स यानी एक प्रकार की ड्रग का निर्माण कर रहा था।

पुलिस ने रिचर्ड के पास से  930 ग्राम मिथाइलसल्फोनिलमेथेन (Methylsulfonylmethane), 580 ग्राम सोडियम हाइड्रोक्साइड क्रिस्टल (Sodium Hydroxide Crystal), 5 लीटर एसिड और एक पाइप के साथ 10 लीटर का प्रेशर कुकर बरामद किया है।

साथ ही पुलिस को दो वज़न तोलने की मशीनें, दो मोबाइल फोन और एक स्कूटर भी मिला है। इस पूरे सामान के कीमत लगभग 50 लाख रुपए आँकी जा रही है।

मुख्य आरोपित फरार 

पूरे मामले को लेकर पुलिस ने बताया कि रिचर्ड और उसके भाई ने इंटरनेट के माध्यम से एमडीएमए क्रिस्टल बनाना सीखा था। इस कृत्य में उसका भाई मुख्य आरोपित है और फिलहाल फरार है।

इन लोगों ने इंटरनेट से सीख कर ही प्रेशर कुकर खरीदा जिसके माध्यम से ये कच्चा माल उसमें उबालकर प्रेशर कुकर की भाप को इकट्ठा करते थे, जिसे बाद में ठंडा करके ड्रग्स बनाया जाता था।


बताया जा रहा है कि ये लोग यह सामान दिल्ली और मुंबई से खरीद कर लाए थे और इन लोगों ने बेंगलुरु समेत भारत के कई हिस्सों में एमडीएमए क्रिस्टल बेचे हैं।

पूरे मामले को लेकर रिचर्ड और उसके भाई के विरुद्ध सोलादेवनाहली थाने में मामला दर्ज हो गया है। इन दोनों पर नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकॉट्रॉपिक सब्सटेंसस एक्ट के तहत विभिन्न धाराएँ लगाई गई हैं। पुलिस फिलहाल रिचर्ड के भाई की तलाश कर रही है।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं: