CDS रावत को 'सड़क का गुंडा' कहने वाली कॉन्ग्रेस को राहुल की रैली में आई 'सम्मान' देने की याद

17 दिसम्बर, 2021 By: DoPolitics स्टाफ़
सियासी फायदे के लिए हर पैंतरा आजमा रही है कॉन्ग्रेस

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी के पोस्टर कट आउट के बराबर में दिवंगत जनरल बिपिन रावत का सेना की वर्दी में लगा कट आउट चर्चा में है। कॉन्ग्रेस पर आरोप लग रहा है कि इस घटना को अभी बहुत समय नहीं बीता है, जब उन्होंने जनरल बिपिन रावत को ‘सड़क का गुंडा’ कहा था। गौरतलब है कि सीकर दाँतारामगढ़ के कॉन्ग्रेसी विधायक वीरेंद्र सिंह ने भी जनरल बिपिन रावत के लिए अपमानजनक टिप्पणी की है।

केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने बृहस्पतिवार (11 दिसंबर, 2021) को उत्तराखंड में कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी के साथ दिवंगत चीफ ऑफ़ डिफ़ेन्स स्टाफ़ जनरल बिपिन रावत की तस्वीरों वाले पोस्टरों को लेकर कॉन्ग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि यह पार्टी हमेशा चुनावी लाभ के लिए काम करती है।

अगले साल राज्य विधानसभा चुनाव से पहले देहरादून में वायनाड के सांसद की रैली से पहले कॉन्ग्रेस नेताओं इंदिरा गाँधी और राहुल गाँधी की तस्वीरों वाले काट आउट पोस्टर्स उत्तराखंड की सड़कों पर लगे थे। इन तस्वीरों के साथ कॉन्ग्रेस द्वारा दिवंगत CDS जनरल रावत, जिनका हाल ही में तमिलनाडु में हुए एक हेलिकॉप्टर दुर्घटना में देहांत हो गया, का भी कट आउट लगाया गया।

बता दें कि भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ और सबसे लंबे समय तक सेवा देने वाले सैन्य अधिकारी जनरल बिपिन रावत, जो उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले से ताल्लुक रखते थे, उनकी पत्नी मधुलिका रावत सहित 13 अन्य लोगों के साथ 8 दिसंबर को तमिलनाडु के कुन्नूर के पास एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना के शिकार हो गए।

जनरल रावत के लिए कॉन्ग्रेस पार्टी के मन में अचानक ही सम्मान जाग गया और जनरल बिपिन रावत के साथ-साथ अन्य कॉन्ग्रेस नेताओं के चेहरे वाले पोस्टर भी लगाए गए। कॉन्ग्रेस पार्टी ने देहरादून में अपनी जनसभा में जनरल बिपिन रावत का बड़ा सा कट-आउट प्रमुखता से लगाया।

भाजपा नेताओं द्वारा आरोप लगाया जा रहा है कि कल तक जनरल रावत को ‘सड़क का गुंडा’ और ‘मोदी का चमचा’ बताने वाले नेता जनरल रावत को श्रद्धांजलि देते नजर आ रहे हैं। खास बात यह है कि राहुल गाँधी ये बात भी भूल गए कि उन्होंने जनरल बिपिन रावत से राफ़ेल को लेकर कई आपत्तिजनक सवाल भी पूछे थे।

वहीं, सीकर के दाँतारामगढ़ से कॉन्ग्रेसी विधायक वीरेंद्र सिंह ने भी दिवंगत जनरल बिपिन रावत के देहांत के राजनीतिकरण का प्रयास किया है। वीरेंद्र सिंह ने कहा कि ‘अभी उत्तराखंड में चुनाव होने वाले हैं और बिपिन रावत शहीद हो गए, ये अजीब संयोग है ये।’

गौरतलब है कि कॉन्ग्रेस नेता और राहुल गाँधी के सहयोगी संदीप दीक्षित ने वर्ष 2017 में अपने एक बयान में कहा था कि जनरल बिपिन रावत एक ‘सड़क का गुंडा’ है।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं: