राजनैतिक आतंकवादी ओवैसी को सेक्युलरिज्म में तभी तक यकीन है, जब तक हिंदू बहुसंख्यक हैं: BJP MLA का बयान

01 जुलाई, 2021 By: डू पॉलिटिक्स स्टाफ़
भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहते हैं

भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के मुखिया और सांसद असदुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधते हुए उन्हें ‘राजनैतिक आतंकवादी’ कह दिया है। उनके इस बयान पर AIMIM ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले बलिया जिले के बैरिया क्षेत्र के भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह एक बार फिर से चर्चा में हैं। दरअसल सुरेंद्र सिंह मंगलवार (29 जून, 2021) शाम को क्षेत्र में बन रही एक सड़क का निरीक्षण करने पहुँचे थे। निरीक्षण कार्यक्रम के बाद वो पत्रकारों से बात कर रहे थे।

पत्रकारों से बात करते हुए भाजपा विधायक ने कहा कि ‘असदुद्दीन ओवैसी राजनैतिक आतंकवादी का रूप लेते जा रहे हैं और उनकी नीयत समाज को भड़काकर उसे खंडित करने की है’।

भाजपा विधायक ने कहा कि असदुद्दीन ओवैसी को भारत की धर्म-निरपेक्षता पर तभी तक विश्वास है, जब तक हिन्दू समाज बहुसंख्यक है।

AIMIM ने जताया विरोध

AIMIM की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष शौकत अली ने भाजपा विधायक के इस बयान पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा कि यह उनके मानसिक दिवालियापन को जाहिर करता है। शौकत अली ने कहा कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है और इसमें राजनैतिक आतंकवाद जैसे शब्दों की कोई जगह नहीं है।

शौकत अली ने भाजपा को ही कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि भाजपा विधायक सुरेन्द्र सिंह, ओवैसी साहब पर समाज को खंडित करने का आरोप लगा रहे हैं, लेकिन सबको पता है कि खुद उनकी पार्टी भाजपा ही समाज को भड़काने और नफरत फैलाने की राजनीति करती है।

चर्चा में रहते हैं सुरेंद्र सिंह के बयान

इससे पहले कोरोना को लेकर भी भाजपा विधायक अपने एक बयान की वजह से चर्चा में थे। दरअसल कुछ दिन पहले ही सुरेंद्र सिंह ने दावा किया था कि रोज पाँच बूँद गौ-मूत्र पानी में मिलाकर पीने से कोरोना नहीं होगा। उन्होंने सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड करते हुए यह बात कही थी।

इससे पहले बलिया के प्रकाश पाल गामा हत्याकांड में भी सुरेंद्र सिंह हत्या के आरोपित धीरेंद्र प्रताप सिंह के पक्ष में बयान देकर चर्चा में आ गए थे। इस बयान की वजह से उन्हें भाजपा हाईकमान की ओर से कारण बताओ नोटिस भी जारी हुआ था, लेकिन सुरेंद्र सिंह के तेवर तब भी ढीले नहीं पड़े थे।

भाजपा विधायक ने मृतक प्रकाश पाल को अपराधी बताते हुए कहा था, “उसके खिलाफ ट्रेन डकैती समेत 4 मुकदमे दर्ज थे। प्रकाश पाल नें गाँव के त्रिलोकी नाथ तिवारी की जमीन पर भी जबरन कब्जा कर लिया था। प्रकाश पाल गामा एक अपराधी था और एक सैनिक के हाथों अपराधी की मौत हुई है।”



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार