बंगाल: पुलिस की मौजूदगी में BJP कार्यकर्ता को बम से उड़ाया, 1 की मौत, 3 घायल

08 जून, 2021
पश्चिम बंगाल में बम से किए गए हमले में युवक की मौत, 3 घायल

पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना ज़िले में एक भाजपा कार्यकर्ता को दिनदहाड़े भीड़ के बीच बम से उड़ा दिया गया। हमले में उसके साथ तीन लोग और घायल हुए हैं। मामले को गंभीरता से लेते हुए इस पर गवर्नर जगदीप ने भी ट्वीट करके जानकारी दी।

पश्चिम बंगाल में हिंसा, आगजनी और मौतें थमने का नाम ही नहीं ले रही हैं। लगभग हर रोज़ किसी न किसी भाजपा समर्थक या आरएसएस के स्वयंसेवक की मौत का समाचार आ ही जाता है। जहाँ एक ओर इसे लेकर बंगाल राज्य सरकार एवं प्रशासन पूर्ण रूप से निश्चिंत है, वहीं कुछ भाजपा नेताओं की अंततः चिर निद्रा टूटी है एवं उन्होंने बोलना प्रारंभ किया है।

उत्तर 24 परगना जिले के भटपारा में रविवार (6 जून, 2021) को दिनदहाड़े दो बाइक सवारों ने पुलिस की मौजूदगी में ही कुछ लोगों पर बम से हमला किया। इस हमले में जयप्रकाश यादव (25) नामक भाजपा कार्यकर्ता की जान चली गई तथा तीन अन्य लोग घायल हो गए। घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने बताया की बाइक सवार उग्रवादियों द्वारा लगभग 4 बम मारे गए।

मौके पर पहुँचे सांसद अर्जुन सिंह

महीनेभर से अपने कार्यकर्ताओं को मरता देख शायद अब भाजपा की चिर निद्रा टूटी है। इस हमले के बाद बैरकपुर के सांसद अर्जुन सिंह मौके पर पहुँचे। उन्होंने ट्वीट करके यह जानकारी दी कि बाजार में दुकानों को लूटा भी गया है एवं पुलिस भी कार्रवाई नहीं कर रही है।


अर्जुन सिंह ने बताया कि ‘उग्रवादियों के विरुद्ध पुलिस का कहना है कि इन जिहादियों के चलते ही बंगाल में सरकार आई है इसलिए हमें स्पष्ट निर्देश हैं कि इनके खिलाफ कोई एक्शन न लें’।

अर्जुन सिंह ने यह आरोप भी लगाया कि जयप्रकाश यादव को केवल इसलिए मारा गया क्योंकि उसने विधानसभा चुनावों में भाजपा का समर्थन किया था। सिंह ने पूरे मामले को लेकर तृणमूल सरकार पर निशाना साधा है।

उत्तर 24 परगना में चुनाव के बाद से लगातार हो रही हिंसा से प्रभावित लोगों ने जगलदबाजार में घोषपारा रोड को जाम करके प्रदर्शन भी किया।

गवर्नर जगदीप ने भी लिया संज्ञान

पश्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनकर द्वारा भी पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए ट्वीट किया गया। धनकर ने जानकारी देते हुए लिखा कि बंगाल जल रहा है तथा पुलिस द्वारा इस पर कोई कार्रवाई होती प्रतीत नहीं हो रही है।


गवर्नर ने ट्वीट करके कुछ भयावह दृश्य भी साझा किए तथा इनका कारण तृणमूल सरकार एवं ममता बनर्जी को बताया। आगे जगदीप ने समस्त बंगाल प्रशासन से अपील की कि कृपया नींद से जागें तथा राज्य में कानून व्यवस्था पर ध्यान दें। 

बता दें कि 2 मई, 2021 को पश्चिम बंगाल विधानसभा के चुनावों में तृणमूल सरकार की जीत के बाद से ही समस्त राज्य में तृणमूल के गुंडों द्वारा उपद्रव मचाया जा रहा। पश्चिम बंगाल के लगभग हर ज़िले से ही हिंसा आगजनी और हत्याओं की खबरें आना, महीने भर से लगातार जारी हैं।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं: