मणिपुर में आतंकियों का सेना के काफिले पर हमला: कर्नल, उनकी पत्नी और बेटे समेत 7 लोगों की मौत

13 नवम्बर, 2021
मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर हमला, सीओ के परिवार समेत कुल सात लोग वीरगति को प्राप्त

उत्तर-पूर्वी राज्य मणिपुर से सेना के एक काफिले पर हमले की खबर सामने आई है। उग्रवादियों द्वारा घात लगाकर यह हमला किया गया जिसमें असम राइफल्स के कर्नल विप्लव त्रिपाठी और उनके परिवार समेत चार अन्य सुरक्षाकर्मी वीरगति को प्राप्त हुए। इस हमले में कर्नल विप्लव की पत्नी और उनके 8 वर्ष के बच्चे की भी जान चली गई।

उत्तर-पूर्वी राज्यों में कई ऐसे आतंकियों के समूह हैं जो मणिपुर और अरुणाचल जैसे राज्यों को भारत से अलग करने के विचार रखते हैं। ये आतंकी समूह निरंतर भारतीय सेना से टकराते रहते हैं, जिसमें कई बार दोनों ओर के कई लोगों की मृत्यु की खबरें भी सामने आई हैं। एक ऐसा ही समाचार शनिवार (13 नवंबर, 2021) को मणिपुर के चुराचाँदपुर ज़िले पर म्यांमार सीमा के पास से आया।

अब तक की आई रिपोर्ट में यह संदेह जताया जा रहा है कि ‘पीपल्स रिवॉल्यूशनरी पार्टी ऑफ कांग्लेईपाक’ (PREPAK) नामक एक आतंकी संगठन ने इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) का उपयोग कर घात लगाई थी।

खबरों के अनुसार, शनिवार सुबह के करीब 10 बजे सेकेन गाँव के पास कर्नल विप्लव त्रिपाठी और असम राइफल्स की खूगा बटालियन के उनके अन्य साथियों पर घात लगा कर धमाका किया गया और फिर गोलियों से हमला हुआ। इस हमले में सीओ विप्लव, उनके 4 साथी उनकी पत्नी और उनका 8 वर्ष के बच्चे की भी जान चली गई।


बता दें कि अब तक किसी संगठन द्वारा हमले की जिम्मेदारी नहीं ली गई है, परंतु हमले के पीछे मणिपुर की पीपल्स लिबरेशन आर्मी PLA/PREPAK को ज़िम्मेदार माना जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने जताया शोक 

पूरे मामले को लेकर देश के प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री, समेत मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने भी इस हमले की निंदा करते हुए ट्वीट किया।

प्रधामंत्री मोदी ने ट्वीट में कहा:

मैं मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर हुए हमले की कड़ी निंदा करता हूँ। मैं उन सैनिकों और परिवार के सदस्यों को श्रद्धांजलि देता हूँ जो आज वीरगति को प्राप्त हुए हैं। उनके बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकेगा। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएँ शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं।


रक्षा मंत्री ने हमले की कड़ी निंदा करते हुए लिखा:

“मणिपुर के चुराचाँदपुर में असम राइफल्स के काफिले पर कायराना हमला बेहद दर्दनाक और निंदनीय है। देश ने सीओ 46 एआर और उनके परिवार के दो सदस्यों सहित 5 बहादुर सैनिकों को खो दिया है। परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएँ हैं। जल्द ही दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।”


मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बिरेन सिंह ने भी अपने ट्वीट में लिखा:

“46 एआर के काफिले पर हुए कार्य पूर्ण हमले की मैं कड़ी निंदा करता हूँ, जिसमें आज एक सीओ और उनके परिवार सहित कुछ सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई है। राज्य के सुरक्षाकर्मी और अर्धसैनिक बल उग्रवादियों को पकड़ने के लिए काम पर जुटे हैं। दोषियों को न्याय के कटघरे में खड़ा किया जाएगा।”




सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार