मेरी जासूसी हो रही है, मुझे अनिल देशमुख की तरह फँसा देंगे, अमित शाह से शिकायत करूँगा: नवाब मलिक

27 नवम्बर, 2021
नवाब मलिक का कहना है कि उनके विरुद्ध साजिश रची जा रही है

महाराष्ट्र की एनसीपी के बहुचर्चित नेता नवाब मलिक पिछले कुछ दिनों से खासे सुर्खियों में बने हुए हैं, परंतु इस बार उनके समाचारों में होने का कारण समीर वानखेड़े और उनके बीच का विवाद नहीं बल्कि उनके द्वारा लगाए गए कुछ आरोप हैं।

नवाब मलिक ने अपने विरुद्ध एक षड्यंत्र रचे जाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि कुछ लोग उनकी जासूसी कर रहे हैं और वे इस विषय में देश के गृहमंत्री अमित शाह से भी शिकायत करेंगे।

गत माह महाराष्ट्र में आर्यन खान ड्रग्स मामला खासा चर्चा में रहा। 2 अक्टूबर, 2021 को गिरफ्तार हुए आर्यन खान जहाँ 3 हफ्तों बाद ही ज़मानत पा गए, वहीं एनसीपी के नेता नवाब मलिक और आर्यन खान मामले की जाँच कर रहे एनसीबी अफसर समीर वानखेड़े के आपस के विवाद ने बाद में भी खूब सुर्खियाँ बटोरीं।

नवाब मलिक और वानखेड़े दोनों ने एक-दूसरे पर खूब आरोप-प्रत्यारोप लगाए, जिसके बाद अब नवाब मलिक एक नया मामला लेकर मीडिया के सामने आए हैं।


मलिक ने शनिवार (27 नवंबर, 2021) को मीडिया के साथ बातचीत के दौरान कहा कि कुछ अनजान लोग उन पर और उनके परिवार पर निगरानी रख रहे हैं।

मलिक ने आगे कहा:

“जब मैं दुबई यात्रा पर गया था तो कुछ लोगों ने दो संदिग्ध व्यक्तियों को एक गाड़ी में पकड़ा था, जो तस्वीरें खींच रहे थे। हम इस विषय में मुंबई पुलिस कमिश्नर से भी शिकायत करेंगे ताकि यह पता चल सके कि कौन यह षड्यंत्र रच रहा है। मेरे पास कुछ अन्य प्रमाण भी हैं, जिन्हें मैं जल्द ही प्रस्तुत करूँगा।”

ट्वीट में साझा कीं तस्वीरें

मलिक ने शुक्रवार (26 नवंबर, 2021) को इस विषय में ट्वीट भी किया, जिसमें उन्होंने गाड़ी में बैठे दो लोगों की तस्वीरें साझा कीं, और लिखा कि ये लोग पिछले कुछ दिनों से उनके घर और स्कूल की रेकी कर रहे हैं। अगर कोई इन्हें पहचानता है तो उन्हें जानकारी दें।

मलिक ने गाड़ी की लाइसेंस प्लेट की तस्वीर भी ट्वीट में साझा की।


आगे मलिक ने आरोप लगाते हुए कहा:

“जिस तरह अनिल देशमुख को फँसाया गया था, उसी तरह कुछ लोग मुझे भी फँसाने का षड्यंत्र रच रहे हैं। हम डरे हुए नहीं हैं, परंतु यह जानना चाहते हैं कि उनका इरादा क्या है? हम इस विषय में तकनीकी ड्राफ्ट तैयार करेंगे और उसे 2 दिन के भीतर मुंबई पुलिस कमिश्नर को सौंपेंगे। किसी नेता को झूठे मामले में फँसाने का प्रयास एक गलत काम है।”

मलिक ने आगे यह भी कहा कि वे देश के गृहमंत्री अमित शाह को भी इस विषय में पत्र लिखकर जानकारी देंगे और मामले की जाँच का अनुरोध करेंगे।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार