मेरे बयान को अपने अजेंडा के लिए इस्तेमाल न करें: PAK खिलाड़ी के भाला छूने पर नीरज चोपड़ा

26 अगस्त, 2021 By: डू पॉलिटिक्स स्टाफ़
नीरज चोपड़ा ने वीडियो के माध्यम से लोगों की ग़लतफ़हमी को दूर किया है

ओलंपिक खेलों में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीतने वाले नीरज चोपड़ा ने हाल ही में ट्विटर पर एक वीडियो साझा कर अपने और पाकिस्तानी खिलाड़ी अरशद नदीम के बीच चल रहे एक कथित विवादित वीडियो के विषय में सूचना साझा की। नीरज ने इस वीडियो में बताया कि ट्विटर पर विभिन्न लोगों द्वारा एवं कई मीडिया संस्थानों द्वारा किए जा रहे दावे पूरी तरह गलत हैं।

बीते दिनों हुए टोक्यो ओलंपिक 2020 में भाला फेंकने की प्रतियोगिता में भारत को एकमात्र स्वर्ण पदक हासिल हुआ। यह उपाधि नीरज चोपड़ा को प्राप्त हुई। इस विषय में इंटरनेट पर अब एक वायरल वीडियो कुछ दिन से घूम रहा था।

बुधवार (25 अगस्त, 2021) को इंटरनेट पर एक वीडियो वायरल हो रहा था, जिसमें नीरज चोपड़ा पाकिस्तानी भाला फेंकने वाले खिलाड़ी नदीम से अपनी बारी से ठीक पहले भाला लेते देखे जा सकते हैं।

इसी विषय में एक साक्षात्कार के दौरान नीरज चोपड़ा ने कहा:

“मैं ओलंपिक फाइनल के दिन मुकाबले की शुरुआत में अपना भाला ढूँढ रहा था। मुझे वह मिल नहीं रहा था। अचानक मैंने अरशद नदीम को भाला लिए जाते देखा। मैंने उससे कहा कि भाई यह भाला मेरा है, यह मुझे दे दो मुझे थ्रो करना है। इसके बाद नदीम ने मुझे भाला दे दिया इसीलिए आपने देखा होगा कि मैंने अपना पहला थ्रो थोड़ा तेज़ी से लिया था।”


नीरज के इस बयान के साथ विभिन्न मीडिया संस्थाओं एवं ट्विटर पर भी कई लोगों ने वीडियो साझा करना प्रारंभ किया एवं उसमें लिखने लगे कि नदीम द्वारा यह जान-बूझकर किया गया ताकि नीरज को शॉट लेने में देर हो जाए और वे मुकाबला न जीत सकें। 


नीरज ने स्वयं दी व्याख्या 

पूरे मामले पर ट्विटर पर खासी गहमागहमी होने के बाद 26 अगस्त को नीरज चोपड़ा ने एक संदेश के माध्यम से सभी गलत दावों को खारिज करते हुए एक वीडियो साझा किया।

इसमें नीरज ने कहा कि प्रतियोगिता के दौरान सभी खिलाड़ी अपने-अपने भाले एक साथ रखते हैं एवं आपस में अभ्यास के लिए उन बालों का उपयोग करते हैं। उसी तरह नदीम द्वारा अभ्यास के लिए नीरज का भाला लिया गया था।


नीरज ने आगे कहा कि उनकी बारी आने का समय उन्होंने नदीम से भाला माँगा और अपना थ्रो लिया। इसमें कोई बड़ी बात नहीं है। नीरज ने यह भी कहा कि उन्हें दुख है कि कई मीडिया संस्थान उनका नाम लेकर इस बात को इतना बड़ा मुद्दा बना रहे हैं।

नीरज चोपड़ा ने सभी लोगों से विनती की कि खेल सभी को मिलकर चलना सिखाते हैं। सभी प्रतियोगिता में शामिल खिलाडी साथ में रहते एवं अभ्यास करते हैं। इस कारण कोई ऐसी बात न की जाए जिससे उन्हें ठेस पहुँचे। 

बता दें कि नीरज चोपड़ा द्वारा स्वर्ण पदक जीते जाने के बाद से ही कई मीडिया एवं RJ भी उस खिलाड़ी और उसके खेल और कौशल की प्रशंसा करने की बजाय अन्य चीजों के माध्यम से केवल अपना प्रचार करने में लगे हैं। कुछ दिनों पहले नीरज के साथ एक वीडियो साक्षात्कार के दौरान कुछ महिला RJ उनके रंग-रूप की प्रशंसा करती और उनके सामने नाचते देखी गईं।

इस वीडियो की सोशल मीडिया पर अच्छी खासी आलोचना हुई थी और लोगों ने कहा था कि नीरज चोपड़ा एक खिलाड़ी हैं एवं उनके रंग-रूप से अधिक उनके कौशल की प्रशंसा की जानी चाहिए और इस तरह एक स्वर्ण पदक विजेता को असहज महसूस कराना ठीक नहीं है।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार