सेक्स सीन में भगवान वेंकटेश्वर का 'भज गोविंदम' भजन: तेलुगू फिल्म पर दर्ज हुई FIR

04 अगस्त, 2021 By: डू पॉलिटिक्स स्टाफ़
बॉलीवुड के बाद अब तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री में हिंदू घृणा

आदि शंकराचार्य द्वारा संस्कृत में रचित आठवीं शताब्दी का हिंदू भक्ति कीर्तन ‘भज गोविंदम’ अब तेलुगू फिल्म उद्योग द्वारा सेक्स सीन फिल्माने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है।

बॉलीवुड के बाद अब दक्षिण भारत की फिल्म इंडस्ट्री में भी भारी मात्रा में हिंदूघृणा परोसी जा रही है। ऐसे विभिन्न गाने एवं फिल्मों के वीडियो ट्विटर पर देखे जा सकते हैं, जिनमें हिंदू देवी-देवताओं का खराब चित्रण किया गया है एवं कई में तो भारी मात्रा में अश्लीलता भी परोसी गई है।

बॉलीवुड की फ़िल्मों और गानों में परोसी जाने वाली हिन्दूघृणा एवं हिंदू धर्म के प्रति अपमान अब छिपा नहीं है। लंबे समय से कला का नाम देते हुए चिन्हित कर केवल हिंदुओं के देवी-देवताओं एवं धर्म को निशाना बनाया गया है।

भजन का अश्लील चित्रण 

ट्विटर पर एक ‘इप्पुडु काका इन्केपुडु’ (Ippudu Kaaka Inkeppudu) नामक तेलुगू फिल्म का गाना खासा वायरल होता देखा जा सकता है। ‘इप्पुडु काका इनकेपुडु’ एक आगामी तेलुगू फिल्म है जिसका निर्देशन वाई युगंधर (Y Yugandhar) ने किया है। इस गाने के लिरिक्स में एक ‘हरी गोविंदम’ नामक भजन चलाया गया है और गाने में एक महिला और पुरुष को यौन क्रियाओं में लिप्त दिखाया गया है।

Ippudu Kaaka Inkeppudu

इस प्रकार के अश्लीलता भरे गाने में भजन लगाकर यह हिन्दुओं को ‘सॉफ्ट टारगेट’ मानते हुए हिंदू देवी देवताओं को अपमानित करने का षड्यंत्र है।

ट्विटर पर @SanskarBarot नामक टि्वटर हैंडल ने इस फिल्म की अन्य कई वीडियो साझा कीं, जिनमें भी हिंदूघृणा साफ देखी जा सकती है। 


एक अन्य ऐसी ही वीडियो में भगवान श्री कृष्ण को चिन्हित कर निशाना बनाया गया। इसमें दिखाया गया कि एक बच्चा श्री कृष्ण समान कपड़े पहनकर खड़ा है और उसका पिता उसकी माँ से कहता है कि “मैं इसे राम की तरह बनाना चाहता हूँ, और तुम हो कि इसे कृष्ण बनाने पर तुली हो।”

बच्चे की माँ द्वारा जब कहा गया कि दोनों ही भगवान का रूप हैं तो पिता का कहना था कि ‘राम की केवल एक पत्नी थी वहीं कृष्ण की 16,000 पत्नियाँ थीं’। 


श्री कृष्ण की छवि को धूमिल करने के लिए इस प्रकार पहले भी कई प्रयास हुए हैं। कई ढोंगी पोंगे-पंडितों द्वारा इस प्रकार की झूठी कहानियाँ फैला दी जाती हैं, जिन्हें बाद में वामपंथी मानसिकता से ग्रसित फिल्म निर्माता फिल्मों और गानों के द्वारा चर्चा में लाकर सच बना कर परोसते रहते हैं। असल में किसी धार्मिक ग्रंथ में श्री कृष्ण के जीवन को लेकर इस प्रकार का कोई वर्णन नहीं मिलता है।

Ippudu Kaaka Inkeppudu फ़िल्म पर दर्ज हुई FIR

बताया जा रहा है कि इस फ़िल्म के दृश्यों पर विवाद होने के बाद ‘इप्पुडु काका इनकेपुडु’ के खिलाफ वनस्थलीपुरम पुलिस में मामला दर्ज किया गया है।

हिंदूवादी धार्मिक समूह वीएचपी और भारतीय जनता पार्टी के कई सदस्यों ने पुलिस से संपर्क किया और आरोप लगाया कि तेलुगू फिल्म ‘इप्पुडु काका इनकेपुडु’ हिंदू भावनाओं को आहत कर रही है क्योंकि इसमें कुछ आपत्तिजनक दृश्य हैं।

शिकायतकर्ताओं ने आरोप लगाया कि हसवंत वाँगा (Hasvanth Vanga), नम्रता दारेकर (Namrata Darekar) अभिनीत ‘इप्पुडु काका इनकेपुडु’ में एक बेडरूम यानि अन्तरंग सीन है, जिसकी पृष्ठभूमि में पवित्र भगवान वेंकटेश्वर भजगोविंदम कीर्तन बज रहा है।

ट्विटर पर लोगों की प्रतिक्रियाएँ 

इस ट्वीट के खासे वायरल होने के बाद ट्विटर पर कई लोगों ने इसके विरुद्ध मोर्चा खोल लिया एवं फिल्म और गाने का अधिक से अधिक बहिष्कार करने की बात कही।

संस्कार राव ने फिल्म के ट्रेलर का यूट्यूब लिंक भी ट्वीट में साझा किया और उसे रिपोर्ट करने को कहा। ट्विटर पर लोगों का भारी विरोध देखते हुए यह वीडियो यूट्यूब से हटा दिया गया।  



लोगों ने अपनी विभिन्न प्रतिक्रियाएँ साझा कीं, जिसमें उन्होंने लिखा कि यह जान-बूझकर किया गया कृत्य है और इस प्रकार बैकग्राउंड म्यूज़िक के तौर पर भजन बजाने का कोई औचित्य नहीं बनता। लोगों ने सेंसर बोर्ड और सरकारी मंत्रालयों से भी इसके विरुद्ध कार्रवाई करने की अपील की। 

कई लोग इस पर चयन भी गए क्योंकि दक्षिण भारत की फिल्म इंडस्ट्री से इस प्रकार हिंदू घृणा की उम्मीद नहीं की जा सकती।


Ippudu Kaaka Inkeppudu फिल्म का विवादित ट्रेलर –




सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार