बंगाल: खेत से मिला हिन्दू युवती का नग्न शव, बलात्कार के बाद हत्या की आशंका

27 सितम्बर, 2021 By: डू पॉलिटिक्स स्टाफ़
बंगाल में एक मानसिक रूप से असंतुलित युवती का शव बरामद हुआ है (प्रतीकात्मक चित्र)

पश्चिम बंगाल के मालदा ज़िले से एक बलात्कार की घटना सामने आई है। गाजोल प्रखंड के एकलखी गाँव में रहने वाली एक हिंदू युवती का अर्धनग्न शव उसके घर से कुछ दूर एक धान के खेत से बरामद किया गया। युवती के हाथ पैर बँधे पाए गए। पुलिस ने फिलहाल मृतदेह को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

पश्चिम बंगाल में लम्बे समय से अवैध घुसपैठ, लव जिहाद और हत्या के मामले सामने आ रहे हैं। इससे अधिक परेशान करने वाली खबर यह है कि मामलों में सरकार समेत पुलिस प्रशासन भी ढीला प्रतीत होता है। यह कोई छुपी हुई बात नहीं है कि पश्चिम बंगाल राज्य की मीडिया भी अधिकतर मामलों को दबाने और पीड़ितों की पहचान छिपाने का सम्पूर्ण प्रयास करती है, जिस कारण अपराधियों को और अधिक शय मिलती है।

ख़बरों के अनुसार, मालदा ज़िले की रहने वाली यह पीड़ित युवती मानसिक रूप से असंतुलित थी। माता-पिता की मृत्यु के बाद वह अपने दादा-दादी के साथ एकलखी गाँव में रहा करती थी। शुक्रवार (24 सितंबर, 2021) की शाम को वह अपने एक अन्य रिश्तेदार के घर जाने की बात कहकर अपने घर से निकली थी, परन्तु अगली सुबह तक भी उसकी कोई खबर नहीं मिली। तब चिंतित परिजनों ने उसकी खोज शुरू की।

परिवार को बलात्कार का शक 

अगले दिन शनिवार की सुबह स्थानीय लोगों ने एक धान के खेत में युवती का शव अर्धनग्न अवस्था में पाया और उन्होंने पुलिस और परिजनों को सूचित किया। परिजनों ने मृतका की हालत को देखते हुए शिकायत दर्ज कराई है, परिजनों का शक है कि पहले उनकी बच्ची के साथ बलात्कार किया गया और फिर उसकी हत्या कर दी गई।

हालाँकि पुलिस के कथनानुसार अभी घटना के सभी पहलुओं की जाँच की जा रही है और हत्या का कारण मृतदेह के पोस्टमॉर्टम के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा। 

यह घटना जिस क्षेत्र में घटी वह मालदा ज़िले के गाजोल पुलिस थाने के अंतर्गत आता है। पुलिस ने फिलहाल शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है, जिसके बाद ही आगे की जाँच प्रारम्भ होगी। अब तक मामले में किसी की गिरफ्तारी भी नहीं की गई है।

बता दें कि एक ही हफ़्ते में पश्चिम बंगाल के मालदा ज़िले से आने वाली यह बलात्कार की दूसरी घटना है। ऐसी ही एक घटना में कुछ दिनों पहले मकैया गाँव में हुई थी। इस घटना में एक नाबालिग हिंदू लड़की के सामूहिक बलात्कार तथा नृशंस हत्या की खबर सामने आई थी।

इस मामले में आरोपित रहीमुल हक़ पड़ोस के ही गाँव बलपुर का निवासी था और तृणमूल कॉन्ग्रेस पार्टी का कार्यकर्ता भी बताया गया था। इस मामले में भी स्थानीय मीडिया ने मामले को दबाने का सम्पूर्ण प्रयास किया था।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार