इंदौर: पहचान छुपाकर चूड़ियाँ बेचने, छेड़छाड़ करने वाले तस्लीम को भीड़ ने कूटा

23 अगस्त, 2021

रविवार (22 अगस्त, 2021) को इंदौर के गोविंद नगर इलाके में में एक मुस्लिम चूड़ी विक्रेता युवक की पिटाई का मामला सामने आया है। चूड़ी विक्रेता युवक का कहना है कि उसे हिन्दू इलाके में चूड़ी बेचने के आरोप में पीटा गया, जबकि स्थानीय लोगों का कहना है कि युवक चूड़ी पहनाने के बहाने हिन्दू महिलाओं से छेड़छाड़ और अभद्रता कर रहा था।

इस घटना का वीडीयो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मामले ने राजनैतिक रूप ले लिया है। वीडियो में लोगों को युवक को किसी भी हिन्दू इलाके में चूड़ी न बेचने की धमकी देते हुए देखा जा सकता है। पीड़ित युवक ने इंदौर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है जिसके बाद पुलिस ने मारपीट करने वालों के खिलाफ गम्भीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

घटना इंदौर के बाणगंगा थाना क्षेत्र के गोविंद नगर की है, जहाँ भीड़ ने रविवार को एक युवक की पिटाई कर दी थी। युवक की ओर से लिखित शिकायत में कहा गया है कि भीड़ ने पहले उससे उसकी जाति पूछी, जैसे ही उसने अपना नाम तस्लीम बताया, उसके बाद  मारपीट शुरू कर दी गई और चूड़ियाँ तोड़ दी गईं। युवक ने अपने साथ लूटपाट का आरोप भी लगाया है।

चूड़ी विक्रेता तस्लीम ने अपनी शिकायत में यह आरोप भी लगाया कि भीड़ ने उसके लिए आपत्तिजनक धार्मिक शब्दों का इस्तेमाल किया और उससे 10,000 रुपए की नगदी, मोबाइल फोन, आधार कार्ड और करीब 25,000 रुपए मूल्य की चूड़ियाँ छीन लीं। इस पूरी घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, जिसके बाद मुस्लिम पक्ष के लोगों ने थाने को घेर लिया।

पुलिस ने युवक की शिकायत पर हिंदुओं के खिलाफ IPC की धारा 120-बी (आपराधिक साजिश), धारा 141 (लोगों द्वारा गैरकानूनी तौर पर जमा होना), धारा 147 (बलवा), धारा 153-ए (सांप्रदायिक सौहार्द्र पर विपरीत असर डालने वाला कार्य) और धारा 298 (धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाने के इरादे से जान-बूझकर कहे गए शब्द),धारा 395 (डकैती) और अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जिसके बाद भीड़ वापस गई।

मजहब छुपाया, महिलाओं से छेड़छाड़

युवक के दावों के विपरीत स्थानीय लोगों का कहना है कि युवक अपना नाम और मजहब छुपा कर, चूड़ी बेचने के बहाने महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और अभद्रता कर रहा था। सन्देह होने पर स्थानीय लोगों ने तलाशी ली तो आधार कार्ड से उसका असली नाम पता चला।

ऐसा भी दावा किया जा रहा है कि युवक के पास से अलग-अलग नाम और मजहब के दो आधार कार्ड मिले जिसके बाद भीड़ आक्रोशित हो गई।

कॉन्ग्रेस ने दिया राजनीतिक रंग

वहीं कॉन्ग्रेस ने इस घटना को राजनीतिक देते हुए सरकार पर हमला बोला है। घटना का वीडियो ट्वीट करते हुए कॉन्ग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष इमरान प्रतापगढ़ी ने एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए लिखा है कि यह वीडियो अफगानिस्तान का नहीं है बल्कि इंदौर का है।

उन्होंने लिखा है कि शिवराज सिंह जी के सपनों के मध्य प्रदेश में मुस्लिमों का सामान लूट कर सरेआम भीड़ से पिटाई करवाई जाती है।

उन्होंने आगे लिखा है कि युवक से हमारी बात हुई है, उसके नुकसान की भरपाई मैं कर रहा हूँ और कानूनी सहायता के लिए वकील भी उपलब्ध करवाया जाएगा, कॉन्ग्रेस की टीम पीड़ितों के साथ है।

उन्होंने पीएम मोदी को टैग कर पूछा, “इन आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई कब होगी?”

हालाँकि कुछ लोगों ने कॉन्ग्रेस की इस एक-तरफा राजनीति पर सवाल भी उठाया है।

इसके बाद भाजपा और पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए एमपी कॉन्ग्रेस ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने हिंदू-मुस्लिम भाईचारे को खत्म कर दिया है। इंदौर में अब सार्वजनिक रूप से लिंचिंग की गई है।

वहीं अब इस मामले में राज्य के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दावा करते हुए कहा है कि चूड़ी विक्रेता युवक हिंदू नाम रखकर चूड़ियाँ बेच रहा था और उसके पास से दो आधार कार्ड भी बरामद हुए हैं। उन्होंने आगे कहा कि इसे सांप्रदायिक रंग नहीं देना चाहिए।

उन्होंने आगे कहा कि अगर कोई आदमी अपना नाम, जाति और धर्म छुपाता है तो लोगों के मन में कड़वाहट आती है। हमारी बेटियाँ सावन के दौरान चूड़ियाँ पहनती हैं और मेंहदी लगाती हैं। मुस्लिम युवक हिन्दू चूड़ी विक्रेता के रूप में आया था, भ्रम की स्थिति थी और उसकी आईडी देखकर सच सामने आया।

ज्ञात हो की इससे पहले गाजियाबाद के लोनी में एक बुजुर्ग की पिटाई और कानपुर में एक ई -रिक्शा चालक की पिटाई को साम्प्रदायिक रंग देने का प्रयास किया गया था, हालाँकि वो दोनों ही घटनाएं आपसी विवाद और धर्मांतरण के प्रयास से जुड़ी थी।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं: