J&K: ईद मनाने आए पुलिसकर्मी सज्जाद के घर घुसे जैश आतंकी, पत्नी, बेटी पर चलाई गोलियाँ

21 जुलाई, 2021 By: डू पॉलिटिक्स स्टाफ़
अनंतनाग में पुलिसकर्मी के परिवार पर हमला (प्रतीकात्मक चित्र)

ईद से एक दिन पहले आतंकियों ने जम्मू कश्मीर में कायराना हरकत को अंजाम दिया है। दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले के वेरीनाग इलाके में जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकवादियों ने जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक कॉन्सटेबल के घर में घुस कर उसकी पत्नी और बेटी पर गोलियाँ बरसा दीं।

कश्मीर जोन पुलिस ने घटना की पुष्टि की है। घाटी में दहशत फैलाने के मंसूबे के तहत आतंकियो ने जम्मू कश्मीर पुलिस को निशाना बनाया है। आतंकियों ने जम्मू-कश्मीर के एक पुलिस कॉन्सटेबल के परिवार को निशाना बनाया। आतंकवादियों ने इस घटना को दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिला मुख्यालय से लगभग 40 किलोमीटर दूर कोकागुंड वेरीनाग इलाके में अंजाम दिया।

घटना के अनुसार मंगलवार (20 जुलाई, 2021) को दो आतंकी कॉन्सटेबल सज्जाद मलिक के घर घुस गए और उनकी पत्नी नाहिदा जान और माहिदा पर ताबड़तोड़ गोलियाँ बरसा दीं। हमले में दोनों बुरी तरह घायल हो गई हैं, जिसके बाद उन्हें तुंरन्त इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया।


बाद में कश्मीर जोन पुलिस ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि हमला जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के आतंकियों द्वारा किया गया है। कश्मीर पुलिस ने कहा “प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, हमलावरों में से एक की पहचान जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी मुफ़्ती अल्ताफ के रूप में की गई है।”

हमले में माँ-बेटी की जोड़ी गंभीर रूप से घायल हो गई और उसे इलाज के लिए अनंतनाग जिला अस्पताल ले जाया गया है। इलाके की घेराबंदी कर दी गई है और आतंकियों की धरपकड़ के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।


माँ और बेटी, दोनों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। ईद की छुट्टी पर घर आए पुलिसकर्मी के मौके पर न मिलने से उसकी जान बच गई। नाहिदा के पति कॉन्सटेबल सज्जाद अहमद मलिक, दक्षिण कश्मीर के कोकरनाग में तैनात हैं। पुलिस ने कहा कि अभी यह पता नहीं चल पाया है कि हमले के वक्त वह घर पर थे या नहीं।

सोमवार को पकड़े गए 4 आतंकी

बता दें कि सोमवार को जम्मू कश्मीर पुलिस ने बड़गाम इलाके एक स्थानीय आतंकवादी और उसके चार सहयोगियों को गिरफ्तार करके लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है।

पकड़े गए लोगों के पास से हथियार और गोला-बारूद सहित आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई थी। इससे पहले सेना और सीआरपीएफ ने प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े एक स्थानीय आतंकवादी को गिरफ्तार किया था।

इसके बाद गिरफ्तार आतंकी की से पूछताछ के बाद कई अहम जानकारियाँ मिली थी। उसकी निशानदेही के आधार पर बडगाम पुलिस ने उसके चार अन्य आतंकवादी सहयोगियों को गिरफ्तार कर लश्कर के स्थानीय उग्रवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ करने में सफलता हासिल की है।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार