बंगाल: देवी काली के मंडप पर कट्टरपंथियों का हमला, पूजा करने, लाउडस्पीकर बजाने पर दी अंजाम भुगतने की धमकी

08 नवम्बर, 2021
बंगाल में हिन्दुओं के खिलाफ जारी है कट्टरपंथियों का आतंक

ममता बनर्जी के पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर जिला स्थित तमलुक थाना क्षेत्र के चापबोसान गाँव में कट्टरपंथी मुस्लिमों की भीड़ ने देवी काली के पूजा मंडप पर हमला बोल दिया। हिंसक भीड़ ने मंडप में तोड़फोड़ की और पूजा बन्द करवा दी। यह घटना शनिवार (6 नवंबर, 2021) की है।

खबर के अनुसार, चापबोसान गाँव के कुछ हिंदू युवकों के एक समूह ने गाँव मे काली पूजा का आयोजन किया था। वे पांडाल और मंडप सजाकर पूजा कर रहे थे। शनिवार दोपहर गाँव से मुस्लिमों का एक समूह पूजा मंडप में आया और जमकर तोड़फोड़ की। उन्होंने पूजा पंडाल को तहस नहस कर दिया और पांडाल में लगे सजावट के कपड़े भी फाड़ दिए।

दंगाई कट्टरपथिंयों की भीड़ ने हिन्दू युवकों से पूजा न करने और लाउडस्पीकर पर भजन-आरती न करने की धमकी देते हुए पांडाल में लगे लाउडस्पीकर तोड़ दिए। दोबारा पूजा का आयोजन करने पर हिंदुओं को गम्भीर परिणाम भुगतने की चेतावनी भी दी गई है।

स्थानीय लोगों के मुताबिक, हिंसा और तोड़फोड़ करने वाले सभी लोग उसी गाँव के रहने वाले हैं और समुदाय विशेष से हैं। इस घटना से हिन्दू समुदाय के ग्रामीण सहमे हुए हैं। वे इतने डरे हुए हैं कि पुलिस में शिकायत करने से भी डर रहे हैं।

इस बीच बजरंग दल के सदस्यों ने गाँव का दौरा कर काली पूजा आयोजकों से बात की है। इस संबंध में ताम्रलिप्टा जिले में बजरंग दल के जिला समन्वयक श्री कुणाल भौमिक ने कहा है कि अगर जल्द ही दंगाइयों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो हम एक बड़ा आंदोलन शुरू करेंगे।

उन्होंने कहा, “ताम्रलिप्ता जिला बजरंग दल की ओर से जवाबी और कानूनी कार्रवाई की जाएगी। अगर स्थानीय प्रशासन घटना के आरोपितों के खिलाफ कड़ा एक्शन नहीं लेता है, तो हमारी ओर से जिला मजिस्ट्रेट के पास शिकायत दी जाएगी।”



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं: