UP: मेडिकल जाँच में एकदम 'चकाचक' मिला गैंगस्टर मुख़्तार अंसारी, पंजाब सरकार ने बताई थीं 9 गंभीर बीमारियाँ

08 अप्रैल, 2021
यूपी की मेडिकल जाँच में फिट मिला अंसारी (फ़ाइल फ़ोटो/ साभार: इंडिया टीवी)

गैंगस्टर से राजनेता बने मुख्तार अंसारी के भाई ने उत्तर प्रदेश सरकार पर अपने भाई के साथ जेल में अमानवीय व्यवहार करने का आरोप लगाया है। पंजाब से उत्तर प्रदेश की बाँदा जेल में स्थानांतरित किए जाने के बाद, मुख़्तार अंसारी के भाई ने कहा कि इससे बेहतर यही होता कि उसे सड़क पार करते समय गोली मार दी गई होती।

हालाँकि, उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि बाँदा मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों की एक टीम ने मुख्तार अंसारी की जेल में जाँच की और कहा कि मुख़्तार अंसारी एकदम स्वस्थ है।

NDTV की एक रिपोर्ट के अनुसार, गाजीपुर के बसपा सांसद अफजल अंसारी ने एक समाचार एजेंसी से कहा, “पंजाब से बाँदा जेल में स्थानांतरित करते समय मुख्तार से अमानवीय व्यवहार किया गया। 15 घंटे से अधिक की यात्रा में, उन्हें रास्ते में पानी और भोजन नहीं दिया गया और उन्हें चिकित्सा सहायता से भी वंचित रखा। इस कारण अंसारी अचेत अवस्था में बाँदा जेल पहुँचे।”

अफ़ज़ल अंसारी ने इस बारे में नहीं बताया कि मुख़्तार अंसारी को यूपी की बाँदा जेल में लाए जाते समय मुख़्तार के साथ हुए इस कथित अमानवीय व्यवहार के बारे में उन्हें कैसे पता चला? गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश का बाहुबली विधायक और गैंगस्टर मुख्तार अंसारी पिछले तकरीबन 02 वर्षों से पंजाब की रोपड़ जेल में बंद था।

उत्तर प्रदेश पहुँचने पर पता चला कि जो बीमारियाँ मुख्तार अंसारी को पंजाब की रोपड़ जेल में थीं, वे सारी बीमारियाँ उनके उत्तर प्रदेश पहुँचते ही गायब हो गईं। बाँदा जेल स्थानांतरित करने की प्रक्रिया में की गई आवश्यक मेडिकल जाँच में मुख्तार अंसारी पूरी तरह स्वस्थ पाया गया है।

शुगर से लेकर स्लिप डिस्क और हृदय संबंधी बीमारियों की जाँच के बाद मुख़्तार अंसारी एकदम फिट मिले हैं। रिपोर्ट के अनुसार बाँदा जेल में अंसारी का शुगर लेवल भी नियन्त्रण में है और फिलहाल उसे हृदय सम्बन्धी भी कोई समस्या नहीं है।

उल्लेखनीय है कि पंजाब मेडिकल बोर्ड की जाँच में गैंगस्टर मुख्तार अंसारी को 9 से ज्यादा गंभीर बीमारियों से ग्रसित बताया गया था। मुख़्तार अंसारी की इन्हीं बीमारियों का हवाला देते हुए पंजाब उसे उत्तर प्रदेश पुलिस के हवाले करने से इंकार करते आ रही थी। पंजाब पुलिस ने यह दलील दी थी कि अंसारी इन गंभीर बीमारियों के कारण लंबा सफर करने की अवस्था में नहीं है।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:


You might also enjoy

आत्मघात में निवेश