टोल प्लाजा जाम करते 'अन्नदाताओं' पर टूटी पुलिस की लाठी, गुस्साए टिकैत ने छोड़ा 'जहर'

28 अगस्त, 2021
किसान नेताओं का उपद्रव, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

हरियाणा के करनाल क्षेत्र में टोल प्लाजा पर धरना देने और टोल जाम करने के बाद उपद्रव फैलाने को लेकर पुलिस द्वारा किसानों पर लाठीचार्ज किया गया। किसान नेता पुलिस की कई चेतावनियों के बाद भी जगह खाली नहीं कर रहे थे, इस कारण पुलिस को यह कदम उठाना पड़ा।

देश की संसद द्वारा पारित किए गए एवं राष्ट्रपति द्वारा मान्यता प्राप्त 3 किसान बिलों को लेकर लगभग साल भर से कथित अन्नदाता दिल्ली की सीमाओं को घेरे बैठे हैं। ऐसे में सरकार द्वारा विभिन्न अवसरों पर किसानों से वार्ता करने का प्रयास किया गया है, परंतु हर बार ही यह प्रयास विफल रहा है।

जहाँ एक ओर इस कथित आंदोलन के चलते आम नागरिकों को आने-जाने में असुविधा हो रही है। वहीं किसान हर रोज़ इस आंदोलन को बढ़ाने की बातें कर रहे हैं। 

ऐसा ही एक मामला शनिवार (23 अगस्त, 2021) को सामने आया, जब एक भाजपा नेता का मार्ग रोकने के लिए किसानों द्वारा टोल प्लाज़ा को जाम कर दिया गया।


हरियाणा के ही करनाल क्षेत्र में कालिका-ज़िरकापुर हाईवे के सूरजपुर टोल प्लाज़ा पर कई किसान नेताओं द्वारा टोल का मार्ग रोक कर प्रदर्शन किया जा रहा था। पुलिस द्वारा किसानों को कई चेतावनियाँ दी गईं और अंत में यह भी कहा गया कि टोल खाली कर दें अन्यथा बल का प्रयोग किया जाएगा।

इसके बाद भी प्रदर्शनकारी टोल प्लाज़ा से नहीं हटे एवं विरोध जारी रहा। इसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। बताया जा रहा है कि करनाल में शनिवार को BJP की बैठक थी और इसमें मुख्यमंत्री खट्टर भी शामिल हुए थे।

राकेश टिकैत बोले- सड़कें जाम करो 

पूरे मामले को लेकर भारतीय किसान यूनियन (BKU) के नेता राकेश टिकैत ने पूरे हरियाणा राज्य में चक्का जाम का ऐलान करते हुए कहा:

“हरियाणा के करनाल में लाठीचार्ज के विरोध में शाम 5:00 बजे तक राज्य की सभी रास्ते बंद रहेंगे।”


टिकैत ने अपने ट्वीट में आगे लिखा कि सरकार का टारगेट 5 सितंबर को मुजफ्फरनगर में आयोजित किसान महापंचायत को न होने देना है और सरकार चाहती है कि हरियाणा के लोग महापंचायत में न पहुँच पाएँ।

बता दें कि कथित किसान नेता पहले भी भाजपा नेता और मेयर की गाड़ियों पर हमला करने के लिए सुर्खियों में आ चुके हैं।

आंदोलनकारियों ने शनिवार (17 जुलाई, 2021) को सेक्टर 48 में भाजपा के वरिष्ठ नेता संजय टंडन और चंडीगढ़ के मेयर रवि कांत शर्मा के वाहनों पर हमला किया था और तोड़फोड़ की थी। इस मामले में करीब 6 किसान गिरफ्तार भी किए गए थे।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार