मोदी को रैली करने का हक नहीं: पंजाब के किसान संगठनों ने दी पीएम मोदी की रैली न होने देने की धमकी

01 जनवरी, 2022 By: DoPolitics स्टाफ़
किसान नेताओं ने कहा कि प्रधानमंत्री को पंजाब में रैली करने का कोई अधिकार नहीं है

किसान संगठनों ने आगामी 5 जनवरी को फिरोजपुर में प्रस्तावित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली न होने देने की धमकी दी है। आठ किसान संघों ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 5 जनवरी को फिरोजपुर में होने वाली पंजाब यात्रा का विरोध और किसी भी कीमत पर रैली न होने देने का ऐलान किया है।

किसान 2 जनवरी को गाँवों में पीएम का पुतला जलाएँगे और 5 जनवरी को दोपहर 12 बजे से दोपहर 2 बजे तक तहसील और जिला स्तर पर विरोध प्रदर्शन करेंगे। यह बात किसान मजदूर संघर्ष कमेटी के प्रदेश प्रधान सतनाम सिंह पन्नू और महासचिव सरवन सिंह पंधेर ने कही।

किसानों ने कहा है कि 5 जनवरी को पंजाब में पीएम मोदी की रैली किसी कीमत पर नहीं होने दी जाएगी। किसान नेता पन्नू और पंधेर ने कहा कि प्रधानमंत्री को पंजाब में रैली करने का कोई अधिकार नहीं।

पन्नू ने कहा,

“मोदी ने तीन कृषि कानून लागू कर पंजाब के किसानों और मजदूरों को दिल्ली की सड़कों पर एक साल तक रुलाया है। इस दौरान 750 किसान शहीद हो गए और इस पर देश के प्रधानमंत्री या भाजपा ने एक शब्द नहीं कहा। मोदी को किसानों की बाकी माँगों को स्वीकार करने की तुरंत घोषणा करनी चाहिए।”

क्रांतिकारी किसान संघ, आजाद किसान समिति दोआबा, जय किसान आंदोलन, बीकेयू (सिद्धूपुर), किसान संघर्ष समिति कोटबुढा, लोक भलाई कल्याण समिति, बीकेयू क्रांतिकारी, दसुहा गन्ना समिति और अन्य ने बरनाला में एक बैठक की और कहा कि विरोध प्रदर्शन किया जाएगा।

किसान नेता गुरमीत सिंह महिमा, काका सिंह और सुरजीत सिंह फूल ने कहा कि केंद्र सरकार ने किसानों के खिलाफ प्राथमिकी रद्द करने और तीन कृषि कानूनों के विरोध में मारे गए लोगों के परिजनों को मुआवजा देने का वादा किया था, लेकिन आज तक कुछ नहीं किया गया है।

किसान संगठनों ने कहा कि सरकार बिजली संशोधन 2020 को तुरंत रद्द करे, लखीमपुर खीरी घटना के दोषियों को गिरफ्तार करे। साथ ही किसान नेताओं पर दर्ज 302 के मुकदमे रद्द कर उन्हें रिहा करने का भी एलान करे।

किसान संगठनों ने आठ जनवरी से पंजाब भर के सभी विधायकों और मंत्रियों के घरों के बाहर रोष प्रदर्शन करने का भी ऐलान किया है।

5 जनवरी से पंजाब में मोदी का चुनावी बिगुल, साथ होंगे अमरिंदर सिंह

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पंजाब विधानसभा के लिए 5 जनवरी से भाजपा के चुनावी अभियान की शुरुआत करेंगे। इसके लिए 5 जनवरी को फिरोजपुर में विशाल रैली रखी गई है। फिरोजपुर में होने वाली रैली में कैप्टन अमरिंदर सिंह भी भाजपा के मंच पर दिखेंगे।

पंजाब में भाजपा इस बार पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। इसके अलावा शिअद संयुक्त के नेता सुखदेव ढींढसा भी रैली का हिस्सा होंगे। भाजपा पहली बार अकाली दल से अलग होकर चुनाव लड़ रही है। कॉन्ग्रेस नेता राहुल गाँधी की भी 3 जनवरी किल्ली चाहलाँ में चुनावी रैली है।

सरकार वापस ले चुकी है तीन कृषि कानून

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 नवम्बर, 2021 को तीन कृषि कानूनों को वापस ले लिए थे। प्रकाशपर्व पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में इसकी घोषणा की थी। कथित किसान एक साल से अधिक समय से इन कानूनों का विरोध कर रहे थे।

वापसी की घोषणा करते हुए उन्होंने कहा था कि सरकार किसानों की दशा सुधारने के लिए तीन कृषि कानून लाए गए थे और यह किसानों की लंबे समय से माँग थी। मोदी ने कहा कि वे इन कानूनों को पूरी ईमानदारी के साथ लाए, इसका स्वागत भी हुआ, लेकिन किसानों के एक वर्ग को वह इनका लाभ बता पाने में नाकाम रहे।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं: