...तो किसानों को साथ ले कर BJP का सहयोग करेंगे अमरिंदर सिंह, अलग पार्टी बनाने का किया ऐलान

20 अक्टूबर, 2021 By: डू पॉलिटिक्स स्टाफ़
अलग पार्टी बनाएँगे अमरिंदर सिंह, भाजपा से गठबंधन के संकेत

अगले वर्ष होने जा रहे पंजाब चुनाव को लेकर पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की ओर से एक महत्वपूर्ण सूचना सामने आई है। कॉन्ग्रेस छोड़ चुके अमरिंदर सिंह ने एक अलग नई पार्टी बनाकर पंजाब चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। यह भी कहा जा रहा है कि वे भाजपा के साथ गठबंधन कर सकते हैं।

पिछले दिनों पंजाब राज्य में हुई राजनीतिक फेरबदल से यह तो साफ था कि आने वाले समय में पंजाब में पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा कोई बड़ा कदम उठाए जाने की संभावना है।

नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कॉन्ग्रेस में आपसी कलह पैदा की थी और उसी के चलते पंजाब की कमान अमरिंदर सिंह से छीन कर कॉन्ग्रेस द्वारा चरणजीत सिंह चन्नी को दे दी गई थी। इस बात को लेकर कैप्टेन भी खासा कड़ा रुख अपनाए हुए थे और जनता द्वारा यह अनुमान लगाया जा रहा था कि कैप्टन भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

मंगलवार (19 अक्टूबर, 2021) को अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल द्वारा इस विषय में सभी भ्राँतियों को साफ करते हुए कैप्टेन द्वारा नई पार्टी बनाए जाने का ऐलान किया गया। उन्होंने अपने ट्वीट में कैप्टन अमरिंदर सिंह की बात करते हुए लिखा:

“पंजाब के भविष्य की जंग जारी है। हम जल्द ही अपनी नई राजनीतिक पार्टी लाएँगे और पंजाब और उसके लोगों की लड़ाई लड़ेंगे। हम किसानों की लड़ाई भी लड़ेंगे जो पिछले एक वर्ष से अपने लिए लड़ रहे हैं।”


भाजपा से समर्थन के संकेत 

उन्होंने पंजाब में भाजपा और अन्य दलों के विषय में बात करते हुए आगे लिखा:

“अगर किसानों के मुद्दे का समाधान होता है तो हम भाजपा के साथ 2022 पंजाब चुनावों में सीटों की व्यवस्था कर गठबंधन कर सकते हैं। इसके साथ ही हम कई अन्य पार्टियों जैसे कि ढींढसा और ब्रह्मपुरा गुटों के साथ भी गठबंधन कर सकते हैं।”

कैप्टन ने आगे पंजाब के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि वे तब तक नहीं रुकेंगे जब तक वे पंजाब के लोगों के भविष्य को सुरक्षित नहीं कर देते। उन्होंने कहा कि पंजाब को राजनीतिक स्थिरता और राज्य के अंदरूनी और बाहरी खतरों से सुरक्षित रखने की आवश्यकता है और वे लोगों से यह वादा करते हैं कि इस राज्य में शांति और सुरक्षा बनाए रखने के लिए वो सब करेंगे जो आवश्यक है।


बता दें कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पिछले माह मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कॉन्ग्रेस पार्टी भी छोड़ दी थी। इसे जनता द्वारा कॉन्ग्रेस के लिए एक भारी नुकसान माना जा रहा था। पूर्व मुख्यमंत्री ने नवजोत सिंह सिद्धू को एक अस्थिर व्यक्ति बताते हुए कहा था कि ऐसा इंसान एक सीमा से सटे होने वाले पंजाब जैसे राज्य के लिए ठीक नहीं है।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार