UP चुनाव: SP से हाथ मिला सकती है AAP, अखिलेश यादव से मिले संजय सिंह

24 नवम्बर, 2021
SP अध्यक्ष अखिलेश यादव से मिले AAP नेता संजय सिंह

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों में जोड़-तोड़ की होड़ लगी है। दिल्ली की सत्ता में काबिज आम आदमी पार्टी भी उत्तर प्रदेश में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद पाले है और ऐसा लगता है इसके लिए वो समाजवादी पार्टी से गठबंधन कर सम्भावित सत्ता में हिस्सेदारी का दाँव चल रही है।

‘AAP’ और समाजवादी पार्टी में गठबंधन की संभावना को हवा देते हुए आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रभारी संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की। आज (बुधवार) को आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से मिलने पहुँचे।

आम आदमी पार्टी नेता ने बुधवार को लोहिया ट्रस्ट के दफ्तर में अखिलेश यादव से मुलाकात की।दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे तक मुलाकात चली जिसके बाद प्रदेश चुनावों के के दोनों दलों में गठबंधन की चर्चाओं को हवा मिलनी शुरू हो गई है।

बता दें कि संजय सिंह और अखिलेश यादव के बीच यह तीसरी मुलाकात थी। करीब दो महीने पहले और फिर मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन पर दोनों नेताओं की मुलाकात हुई थी।

इससे पहले मंगलवार को SP अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) अध्यक्ष जयंत चौधरी से भी मुलाकात की थी। दोनों दलों में चुनावी गठबंधन को लेकर बातचीत भी हुई लेकिन कोई नतीजा अभी नहीं निकला है।

अखिलेश यादव पहले भी ये बात बोल चुके हैं कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान वो छोटी पार्टियों के साथ गठबंधन की तैयारी में हैं। जयंत चौधरी और अब संजय सिंह से मुलाकात को इसी बयान से जोड़कर देखा जा रहा है।

ओवैसी से भी हो सकता है SP का गठबंधन

इसी बीच समाजवादी पार्टी की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के सुप्रीमो ओमप्रकाश राजभर ने बुधवार को दावा किया कि समाजवादी पार्टी यूपी चुनाव में ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के साथ गठबंधन करने के लिए तैयार है।

राजभर का कहना है कि उनकी ओवैसी से बात हुई और उन्होंने एआईएमआईएम नेता को बताया कि सपा उन्हें 10 सीटें दे सकती है, इससे ज्यादा नहीं। अगर ओवैसी तैयार होते है तो अखिलेश को ओवैसी से गठबंधन करने में कोई एतराज नहीं है।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार