गायक-कलाकारों की हत्या के बाद तालिबान ने नामी मजहबी नेता मौलवी जादरान को बनाया बंधक

30 अगस्त, 2021 By: डू पॉलिटिक्स स्टाफ़
तालिबान ने मौलवी मोहम्मद सरदार जादरान को गिरफ्तार कर लिया है

तालिबान ने सोमवार (30 अगस्त, 2021) को अफ़ग़ानिस्तान के नामी मजहबी नेता मौलवी मोहम्मद सरदार जादरान को गिरफ्तार कर लिया है। जादरान अफ़ग़ानिस्तान के ‘नेशनल काउंसिल ऑफ़ रिलीजियस स्कॉलर्स’ के प्रमुख रह चुके हैं। तालिबान ने एक तस्वीर जारी कर मौलवी की गिरफ्तारी की पुष्टि की है।

मौलवी मोहम्मद सरदार जादरान इस तस्वीर में बंधक बने देखे जा सकते हैं। उनकी आँखों पर पट्टी बाँधी गई हैं। इससे पूर्व, तालिबान ने सलीमा मजारी पर कब्जा कर लिया था, जो अफ़ग़ानिस्तान की पहली महिला राज्यपालों में से एक थी। उन्होंने तालिबान से लड़ने के लिए हथियार उठाए थे।

ऐसे समय में, जब कई अफ़ग़ान नेता आतंकी संगठन के भय से देश छोड़कर भाग गए, सलीमा मजारी बल्ख प्रांत में रुकी रहीं। हालाँकि इस हिस्से के तालिबान के कब्जे में आने के बाद उन्हें आत्मसमर्पण करना पड़ा था।

गौरतलब है कि अमेरिका ने अफ़ग़ानिस्तान में मौजूद अपने दूतावास के सभी कर्मचारियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया है। अमेरिका के सिर्फ 300 के करीब नागरिक अब काबुल में मौजूद हैं। बताया जा रहा है कि काबुल में अब हजार के करीब लोग मौजूद हैं, जो अपने घर जाना चाहते हैं।

इस बीच काबुल में लगातार बमबारी और रॉकेट दागे जा रहे हैं। सोमवार सुबह भी शहर में रॉकेट दागे गए, जिनकी जिम्मेदारी अभी तक किसी ने नहीं ली है। इस से पूर्व भी काबुल हवाई अड्डे पर हुए एक हमले में 13 अमेरिकी सैनिकों के साथ-साथ सैकड़ों की तादाद में अफ़ग़ान नागरिक मारे गए।

तालिबान नामी लोगों, संगीतकारों, कॉमेडियंस की कर रहा है क्रूर हत्या

अफ़गानिस्तान पर कब्जे के बाद तालिबान इस देश में इस्लामी कानून शरिया स्थापित करना चाहता है। रविवार को ही एक ख़बर सामने आई है, जिसमें बताया गया कि तालिबान के एक लड़ाके ने पर्वतीय प्रांत में एक अफ़ग़ान लोक गायक की गोली मारकर हत्या कर दी। अफ़ग़ान लोक गायक फवाद अंद्राबी की हत्या शुक्रवार के दिन अंद्राबी घाटी में हुई।

इससे पूर्व तालिबानी एक मशहूर कॉमेडियन की भी हत्या कर चुके हैं। तालिबान द्वारा हास्‍य कलाकार ‘ख़ाशा ज़्वान’ के नाम से मशहूर नजर मोहम्मद को थप्पड़ मारने और गाली देने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इन हत्याओं से लोग दहशत में हैं और उन्हें भय है कि तालिबान एक बार फिर अपने दमनकारी शासन लेकर उन पर राज करने जा रहा है।

लोक गायक अंद्राबी की हत्या से सिर्फ अफगान ही नहीं बल्कि पूरा विश्व चिंतित है। संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत करीमा बेन्नौने ने इस पर शोक जताते हुए अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, “हम सरकारों से आह्वान करते हैं कि तालिबान कलाकारों के मानवाधिकारों का सम्मान करें।”



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार