सभी देश सुनिश्चित करें कि क्रिप्टोकरेंसी गलत हाथों में न जाए: सिडनी डायलॉग में PM मोदी

18 नवम्बर, 2021
PM मोदी ने 'द सिडनी डायलॉग' में क्रिप्टोकरेंसी और बिटकॉइन को लेकर बड़ी बात कही

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार (18 नवम्बर, 2021) को सभी लोकतांत्रिक देशों से यह सुनिश्चित करने के लिए मिलकर काम करने का आग्रह किया कि क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) गलत हाथों में न जाए। पीएम मोदी ने यह चेतावनी भी दी कि यह युवाओं को ख़राब कर सकती है।

‘सिडनी डायलॉग’ में एक वर्चुअल संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि डिजिटल युग सब कुछ बदल रहा है क्योंकि इसने राजनीति, अर्थव्यवस्थाओं और समाज को नए सिरे से परिभाषित किया। उन्होंने कहा कि डिजिटल दौर ने संप्रभुता, शासन, नैतिकता, अधिकारों और सुरक्षा पर नए प्रश्न उठाए हैं।

पीएम मोदी ने भारत के प्रौद्योगिकी विकास और क्रांति के विषय पर बात की। उन्होंने बिटकॉइन का उदाहरण देते हुए कहा कि क्रिप्टोकरेंसी जैसे तकनीकी नवाचारों का दुरुपयोग नहीं किया जाना चाहिए। इसलिए यह बेहद जरूरी हो जाता है कि बिटकॉइन जैसी डिजिटल मुद्रा कहीं गलत हाथों में न चली जाए, जो हमारे युवाओं को खराब कर सकता है। प्रधानमंत्री मोदी ने सभी देशों से यह सुनिश्चित करने के लिए क्रिप्टोकरेंसी पर मिलकर काम करने का आग्रह किया। 

संबोधन से पहले ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री, स्कॉट मॉरिसन ने भी अपने विचार रखे। पीएम मोदी ने इंडो पैसिफिक क्षेत्र और उभरती डिजिटल दुनिया में भारत की केंद्रीय भूमिका को मान्यता दी।

डिजिटल युग के लाभ का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी कहा कि दुनिया समुद्र तल से लेकर साइबर से लेकर अंतरिक्ष तक विविध खतरों में नए जोखिमों और संघर्षों के नए रूपों का भी सामना कर रही है।

उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी वैश्विक प्रतिस्पर्धा का एक प्रमुख साधन बन गई है और भविष्य की अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को आकार देने की कुँजी है। प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रौद्योगिकी और डेटा नए हथियार बन रहे हैं। लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत खुलापन है। हमें निहित स्वार्थों को इस खुलेपन का दुरुपयोग नहीं करने देना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने भारत में हो रहे 5 महत्वपूर्ण बदलावों किया। उन्होंने कहा-

“पहला- 1.3 बिलियन से अधिक भारतीयों के पास एक डिजिटल पहचान है, 6 लाख गाँव जल्द ही ब्रॉडबैंड और दुनिया के सबसे कुशल पेमेंट सिस्टम, यूपीआई से जुड़ेंगे। दूसरा- शासन, समावेश, सशक्तिकरण, कनेक्टिविटी, लाभ वितरण और कल्याण के लिए डिजिटल प्रौद्योगिकी का उपयोग। तीसरा, भारत के पास दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा और सबसे तेजी से बढ़ने वाला स्टार्टअप इको-सिस्टम है। चौथा- भारत का उद्योग और सेवा क्षेत्र, यहाँ तक ​​कि कृषि भी बड़े पैमाने पर डिजिटल परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है। पाँचवाँ- भारत को भविष्य के लिए तैयार करने के लिए एक बड़ा प्रयास किया जा रहा है।”

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ समय से पूरे विश्व में क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) यानी आभासी मुद्राओं को लेकर लोगों में खासा उत्साह है। दुनिया के लगभग सभी बड़े देशों के लोग क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने को लेकर उत्साहित भी हैं।

हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने इस विषय में अपनी चिंता व्यक्त की थी। 

बृहस्पतिवार (11 नवंबर, 2021) को भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने इसमें निवेश के विषय में चिंता जताते हुए अपने बयान में कहा:

“क्रिप्टोकरेंसी में व्यापार करने वाले भारतीयों की संख्या बहुत अधिक है। केंद्रीय बैंक के रूप में हमें व्यापक आर्थिक और वित्तीय स्थिरता के दृष्टिकोण से इसे लेकर गंभीर चिंता है।”

उन्होंने आगे यह भी कहा कि सरकार इस मामले में विचार कर रही है और इस पर जल्द ही फैसला लिया जाएगा। बता दें कि ‘इकोनॉमिक टाइम्स’ की एक रिपोर्ट में यह भी साफ हुआ है कि क्रिप्टोकरेंसी में निवेशकों ने सबसे अधिक ₹8000 से ₹3000 के बीच निवेश किया हुआ है।

यह भी सामने आया है कि क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज द्वारा विज्ञापनों के माध्यम से यह दावा किया गया था कि भारतीयों द्वारा छः लाख करोड़ रुपए से अधिक निवेश भारतीयों द्वारा क्रिप्टोकरेंसी में किया गया है। 10 करोड़ रुपए से अधिक भारतीय सक्रिय रूप से इसी क्षेत्र में अपना व्यापार चला रहे हैं।

अधिकतर देशों में क्रिप्टोकरेंसी को नहीं है मान्यता 

बता दें कि बिटकॉइन समेत सभी बड़े-बड़े क्रिप्टोकरेंसी भारत में फिलहाल मान्य नहीं हैं और सरकार द्वारा अब तक इन्हें वैधता प्रदान करने के लिए कोई आसार भी नहीं दिख रहे हैं। हालाँकि दुनिया के कई देशों में क्रिप्टोकरेंसी को मान्यता देने की बात चल रही है।

बता दें कि अधिकतर क्रिप्टोकरेंसियों की कीमत काफी अधिक है। इसमें सबसे अधिक कीमत बिटकॉइन की है। वर्तमान में बिटकॉइन की कीमत 64680.11 डॉलर, एथेरियम की कीमत 4662.81 डॉलर और बाइनेंस कॉइन की कीमत 11 नवंबर, 2021 को 623.81 डॉलर है।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं: