यहीं शराब पिएँगे, पेशाब करेंगे: बंगाल के मंदिर में नशा करने से रोकने वाले साधू से बदसलूकी

20 अगस्त, 2021 By: डू पॉलिटिक्स स्टाफ़
आश्रम के साधू के साथ अभद्रता

पश्चिम बंगाल के बीरभूम ज़िले से एक साधू को अपमानित करने की घटना सामने आई है। यहाँ रामाकृष्ण मिशन के एक स्वामी के साथ कुछ अराजक तत्वों द्वारा अभद्रता की गई। उन लोगों ने साधू महाराज के साथ गाली-गलौज की एवं उन्हें ज़बरन शराब पिलाने का प्रयास भी किया।

पश्चिम बंगाल के बीरभूम ज़िले के 18 नंबर वार्ड में रामकृष्ण मिशन के एक आश्रम के साधू स्वामी बारुनंदा महाराज के साथ बुधवार (18 अगस्त, 2021) की दोपहर लगभग 12:00 बजे कुछ अराजक तत्वों द्वारा बेहद निंदनीय व्यवहार किया गया।

रामपुरहट पुलिस थाने में आने वाले इस क्षेत्र के साधू महाराज के साथ कुछ लोगों ने पहले गाली-गलौज की उसके बाद उन्हें एवं मंदिर परिसर को भी दूषित किया।


स्वामी बारुनंदा महाराज ने मामले को लेकर शिकायत दर्ज करा दी है और उन्होंने पूरे घटना के विषय में विस्तार से मीडिया को जानकारी दी। उन्होंने बताया:

“बुधवार दोपहर 12:00 बजे के आसपास कुछ लोग यहाँ मेरे सामने आकर मंदिर के सामने मदिरा पी रहे थे और मंदिर परिसर में गंदगी कर रहे थे। मैंने उनसे कहा कि मंदिर के सामने गंदगी मत फैलाओ कहीं और जाओ। इसके बाद उन्होंने मेरे ही शरीर पर शराब फेंकना प्रारम्भ कर दिया और मेरे मुँह में भी ज़बरन शराब डालने लगे।”

‘यहीं शराब पिएँगे और पेशाब भी करेंगे’

स्वामी जी ने जब इस कृत्य का विरोध किया, तो वे लोग स्वामी जी को गालियाँ देने लगे और कहा कि ‘हम तुम्हारे बाप हैं। तुम कौन हो? तुम यहाँ कुछ नहीं कर सकते। हमारा जैसा जी चाहेगा हम करेंगे’। लोगों ने स्वामी जी को ‘शैतान’ जैसे शब्द कहते हुए अभद्र भाषा का प्रयोग भी किया। इन लोगों ने बहस करते हुए यह भी कहा कि वे यहीं पर शराब भी पिएँगे और और पेशाब भी करेंगे और वो कुछ नहीं कर पाएँगे। 

इन लोगों की पहचान के विषय में पूछने पर स्वामी जी ने कहा कि इसकी उन्हें अधिक जानकारी नहीं है। उन्हें इन लोगों का नाम और पता भी मालूम नहीं है।

पूरे मामले को लेकर फिलहाल पुलिस में एफआईआर दर्ज करा दी गई है, परंतु अब तक पुलिस किसी आरोपित को गिरफ्त में नहीं ले पाई है।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार