मुझे चौथी बीवी बनने में नहीं ऐतराज, तुम गोमूत्र पियो: 4 निकाह के सवाल पर भड़की सफूरा जरगर

11 जनवरी, 2022 By: DoPolitics स्टाफ़
समस्त मुस्लिम महिलाओं की प्रवक्ता बनी सफूरा जरगर भारत में UCC के सवाल से भड़क गई

दिल्ली दंगों की आरोपित सफूरा जरगर ट्विटर पर एक साधारण से सवाल पर भड़क गई और हिंदुओं को गो-मूत्र पीने वाला कहकर अपनी भड़ास निकालने का प्रयास किया। बता दें कि सफूरा जरगर पर दिल्ली दंगों की साज़िश का आरोप है, जिनमें 50 से ज्यादा लोग मारे गए थे।

कश्मीर की रहने वाली और कथित रूप से दिल्ली के जामिया मिलिया की छात्रा सफूरा जरगर उस वक्त चर्चा में आई थी, जब वो दिल्ली दंगों के आरोप में जेल में बन्द थी, तब उसके लिए ‘लिबरल गैंग’ गर्भवती होने की वजह से जमानत की मुहिम चला रहा था।

सफूरा जरगर सोशल मीडिया पर फिर एक बार फिर चर्चा में है, और इस बार वजह है इस्लाम मे शादी से जुड़े एक सवाल पर उसका जवाब। दरअसल भारत में जन्मी और वर्तमान में अमेरिका के कैलिफोर्निया में रहने वाली ‘एंजेल निवेशक’ आशा जडेजा मोटवानी ने एक ट्वीट कर के भारत मे सभी के लिए यूनिफॉर्म सिविल कोड की वकालत की थी।

मोटवानी ने ट्वीट किया था, “भारत के बाहर की ज्यादातर दुनिया यह नहीं जानती है कि भारत में अभी भी हिंदुओं और मुसलमानों के लिए अलग-अलग पारिवारिक कानून हैं। हिंदुओं को ‘धर्मनिरपेक्ष संहिता’ का पालन करना होता है, जबकि मुसलमान शरिया के नाम पर 4 पत्नियाँ रख सकते हैं और पत्नी-बेटियों की शिक्षा पर प्रतिबंध लगा सकते हैं। यूनिफॉर्म सिविल कोड को सभी भारतीयों पर लागू करना होगा।”

मोटवानी के इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए सफूरा जरगर ने यूनिफॉर्म सिविल कोड (UCC) पर आपत्ति जताई। इसके साथ ही, शिक्षा जैसी बुनियादी जरूरत को नकारते हुए सफूरा ने शरीयत और चार से अधिक निकाह को जायज़ ठहराया।

सभी मुस्लिम महिलाओं की प्रवक्ता बनते हुए सफूरा ने लिखा ,

“मैं एक मुस्लिम महिला हूँ और मैं तय करूँगी कि मुझे क्या चाहिए। मैं अपने अधिकारों के लिए लड़ने में सक्षम हूँ। आपको मेरी ओर से बोलने का अधिकार किसने दिया? हमें आपके ‘बचाव’ की आवश्यकता नहीं है। आपके सपनों के हिंदू राष्ट्र में लोग सती परंपरा को पुनर्जीवित करना चाहते है, इसकी चिंता करो। आप खुद को बचाइए, हमें अकेला छोड़ दो।”

सफूरा के इस ट्वीट के जवाब में पम्मी सिंह नामक एक यूज़र ने सफूरा को जवाब देते हुए लिखा,

“आप एक मुस्लिम महिला हैं और आप एक ऐसे पुरुष की पत्नी बनना चुनते हैं, जिसकी 4 पत्नियाँ हैं… और आप महिलाओं के लिए शिक्षा नहीं चुनती हैं। वाह …. गज़ब की मुस्लिम महिला हैं आप।”

अपने ट्वीट पर आये इस रिप्लाई पर सफूरा जरगर बुरी तरह भड़क गई। यूज़र का कोट ट्वीट कोट करते हुए उसने लिखा,

“यदि आप अपनी धार्मिक मान्यताओं के तहत गोमूत्र पी सकते हैं और मुझे इसकी आलोचना करने का अधिकार नहीं है, तो मैं भी अपनी मजहबी विश्वासों के कारण अपने पति की 4 पत्नियों में से एक हो सकती हूँ। और मैं खुद को और अपने बच्चों को भी शिक्षित कर सकता हूँ। तुम्हे इस बारे में बोलने का कोई हक नहीं।”

बता दें कि पिछले साल फरवरी के आखिरी सप्ताह में दिल्ली में भयावह दंगे सफूरा जरगर जैसे लोगों की वजह से भड़के थे। इन दंगों में कई परिवार नष्ट हो गए थे और कई युवाओं के सपने जल कर राख हो गए थे। इन दंगों के पीछे बहुत बड़ी साजिश थी, जिसकी एक अहम कड़ी सफूरा जरगर से जाकर जुड़ती है।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की जांच में पता चला था कि संसद के दोनों सदनों से पारित नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ सफूरा जरगर लगातार भड़काऊ भाषण देकर लोगों को उकसाती थी। पुलिस को उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए दंगे के दौरान सफूरा जरगर के चांदबाग में दंगाइयों के साथ होने और दंगे की साजिश रचने की भी ठोस जानकारी मिली थी।

सफूरा के खिलाफ आरोप इतने संगीन हैं कि दिल्ली हाईकोर्ट ने भी सफूरा की जमानत की अपील खारिज कर दी थी। बाद में सफूरा के असली गुनाह पर पर्दा डालने की कोशिश करते हुए उसकी रिहाई के लिए जबरदस्त कैंपेन चलाया गया। उसकी प्रेगन्सी और महिला होने को आधार बनाकर उसकी रिहाई की अपील की गई। बाद में उसे जमानत मिल भी गई।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार