उत्तराखंड: सड़क पर मिला गोमांस, हालात बिगड़ते देख इंटरनेट बंद कर पुलिस ने निकाला फ्लैग मार्च

11 जनवरी, 2022 By: DoPolitics स्टाफ़
रुद्रपुर में गोवंश मिलने की बात पर हंगामा

उत्तराखंड के उधम सिंह नगर ज़िले में गाय का शव मिलने की खबर के बाद माहौल गरमा गया। मौके पर भाजपा के विधायक राजकुमार ठुकराल समेत कॉन्ग्रेसी नेता भी पहुँचे और स्थिति गंभीर बन गई। क्षेत्र के एसएसपी ने स्थिति नियंत्रण में लेने के बाद पुलिस ने क्षेत्र में शांति बनाए रखने के फ्लैग मार्च भी निकाला।

उत्तराखंड समेत पाँच राज्यों में हाल ही में विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में प्रशासन और सत्ताधारी पार्टियों के लिए भी राज्य में शांति व्यवस्था बनाए रखना एक बड़ी चुनौती है। उत्तराखंड के उधम सिंह नगर ज़िले के रुद्रपुर में सोमवार (10 जनवरी, 2022) को गोवंश मिलने की खबर फैल गई, जिसके बाद क्षेत्र का माहौल गरमा गया।

स्थानीय गगन ज्योति बारात घर के सामने पड़े खाली प्लॉट में सोमवार की सुबह एक सिलेंडर बाँटने वाले ने 2 पशुओं के शव देखे, जिसके बाद वहाँ पर स्थानीय लोग एकत्रित हो गए। आस पास खबर फैल गई कि क्षेत्र में गो हत्या हुई है, जिसके बाद भीड़ जुट गई और नारेबाज़ी और प्रदर्शन प्रारंभ हो गया।

मामले पर राजनीति भी गरमा गई और स्थानीय भाजपा विधायक राजकुमार ठुकराल, ज़िलाध्यक्ष शिव अरोड़ा, विकास शर्मा एवं कॉन्ग्रेसी नेता मीना शर्मा और अनिल शर्मा भी मौके पर पहुँच गए।

नेताओं के बीच बवाल 

विरोधी दलों के नेताओं के आमने-सामने होने पर माहौल गरमा गया और कॉन्ग्रेसी नेता ने भाजपा को लेकर कुछ टिप्पणी की। इसके बाद भाजपा के विधायक राजकुमार ठुकराल भी हिंसक हो गए।

पूरे मामले की वीडियो सोशल मीडिया पर देखी जा सकती है, जहाँ क्षेत्र के एसएसपी दिलीप सिंह कुँवर ने विधायक को रोका और मामला नियंत्रण में लिया।


मौके पर गोवंश संरक्षण स्क्वाड कुमाऊँ के दिलीप कुमार आर्य भी पहुँचे और जाँच की। पूरे मामले में धार्मिक भावनाएँ आहत करने को लेकर शिकायत दर्ज हुई है, जिसमें अज्ञात लोगों को लेकर मामला दर्ज किया गया है।

विवाद पर एसएसपी कुँवर ने कहा:

“ऐसा प्रतीत होता है कि यह इस शहर की कानून व्यवस्था बिगड़ने के उद्देश्य से किया गया कृत्य है, जिस शहर ने वर्ष 2011 में भी सांप्रदायिक विवाद झेला था।”

क्षेत्र के सर्कल अफसर एके सिंह ने बताया:

“गो हत्या एक्ट 3/8 के तहत एफआईआर दर्ज कर दी गई है। इसमें आईपीसी की धारा 153A और 295 भी लगाई गई हैं।”

कुमाऊँ के डीआईजी नीलेश आनंद भरणे ने मामले का संज्ञान लिया और लोगों से किसी भी तरह की अफवाह न फैलाने का आग्रह करते हुए यह वादा किया कि आरोपितों को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा।

उन्होंने यह भी कहा कि क्षेत्र में आचार संहिता और धारा 144 लागू है और किसी को भी शांति व्यवस्था बिगाड़ने नहीं दी जाएगी।


क्षेत्र में कुछ समय के लिए इंटरनेट सेवा बंद करने के आदेश दिए गए थे जिसे बाद में बाहल कर दिया गया।  घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज की जाँच हो रही है और शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए उधमसिंह नगर पुलिस द्वारा क्षेत्र में लगभग 14 किलोमीटर का फ्लैग मार्च भी निकाला गया।



सहयोग करें
वामपंथी मीडिया तगड़ी फ़ंडिंग के बल पर झूठी खबरें और नैरेटिव फैलाता रहता है। इस प्रपंच और सतत चल रहे प्रॉपगैंडा का जवाब उसी भाषा और शैली में देने के लिए हमें आपके आर्थिक सहयोग की आवश्यकता है। आप निम्नलिखित लिंक्स के माध्यम से हमें समर्थन दे सकते हैं:

ताज़ा समाचार